श्री गुरुगोविंद सिंहजी के बलिदान दिवस के चल रहे आयोजनों में निकाला नगर कीर्तन

महिदपुर। सिखों के दसवे गुरु श्री गुरु गोविंद सिंह जी के बलिदान दिवस को सिखों के द्वारा 20.दिसं. से 28 दिसं तक बलिदान दिवस सप्ताह के रुप में मनाया जाता है देश तथा धर्म की रक्षा के लिये श्री गुरु गोविंद सिंहजी के द्वारा अपनें पूरे परिवार को न्योछावर कर दिया गया था उनके सामने उनका पूरा परिवार समाप्त हो गया मगर उन्होनें मुगलों की गुलामी स्विकार नहीं की श्री गुरु गोविंद सिंह जी के 4 साहिबजादों, साहिबजादा अजीत सिंह, साहिबजादा जुझार सिंह, साहिबजादा जौरावर सिंह तथा साहिबजादा फतैह सिंह के द्वारा देश एवं धर्म की रक्षा के लिये अपने प्राणों का बलिदान दिया गया था।
इसको लेकर 20 दिसं 2023 से लगातार ही नगर के गुरुघर श्रीगुरुदारा साहब पर लड़ीवार अखण्ड़ पाठ, प्रात: प्रभात फैरियों तथा श्री गुरु महाराज के अटूट लंगर के आयोंजन चल रहे थे। इसी में गुरुसिंह सभा के द्वारा मंगलवार 16 जनवरी को गुरुगोविंद साहब के बलिदान उपलक्ष्सय में दोपहर दो बजे से नगर कीर्तन निकाला गया जो गुरुघर श्री गुरुद्वारा साहब से शुरू हुआ तथा नगर के प्रमुख मार्गो से निकाला गया। श्रीगुरुग्रंथ साहब को आकर्षक रुप से सजाई गई गाड़ी में लेकर श्रीगुरुसिंह सभा के वरिष्ठ सरदार हरदीप सिंह गांधी बैठे हुए थे तथा अगवानी में तारांतरण का अखाड़ा(पंजाब)विशेष रुप से शामिल रहा जिसमें तरह तरह के हैरत अंगेज कारनामें तलवार बाजी तथा सीनें पर बर्फ की लादी रखकर हथोड़े से फोड़ने आदि दिखाते चल रहे थे वहीं पंच प्यारें भी शामिल हुएनगर ककीर्तन में महिला सेवादार मार्ग को बुहारते चल रही थी तथा सेवादार सड़क को पानी से धोते चल रहे थे। दो तोपें धमाके करती चल रही थी तो वहीं तोप से पुष्पवर्षा के लिये तोपची रंगीनयॉ बिखेरता हुआ शामिल था। नगर में जगह जगह पर श्रीगुरुग्रंथ साहब तथा पंच प्यारो का पुष्पमालाओं तथा पुष्प वर्षाकर नगर में भव्य स्वागत किया गया।
चौक बाजार में राष्ट्रीय स्वयं सेवक के वरिष्ठजनों के द्वारा मंच के माध्यम से पुष्पवर्षकर जबरदस्त स्वागत किया गया। महिला मंड़ल अपनी मधुरवाणी से श्रीगुरुवाणी भजन सुनाती हुई चल रही थी। गुरुघर श्रीगुरुद्वारा साहब पर नगर कीर्तन का समापन हुआ। रात्रि में गुरु का अटूट लंगर का आयोजन श्री गुरुद्वारा साहब पर हुआ।

Author: Dainik Awantika