44 दिन बाद होशंगाबाद से गिरफ्त में आया बोलेरो चोरी करने वाला -ड्रायवरी की आड़ में दिया था वारदात को अंजाम, एक दिन की रिमांड पर पूछताछ

दैनिक अवंतिका(उज्जैन) ड्रायवरी की नौकरी करने वाला बदमाश महिन्द्र बोलेरो पिकअप लेकर फरार हो गया था। मामला सामने आने पर पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर तलाश शुरू की थी। 44 दिन बाद बदमाश को होशंगाबाद के पिपरिया नर्मदापुरम से गिरफ्तार किया गया है। ऋषिनगर में रहने वाले प्रवीण पिता यदुनंदन दबे 60 वर्ष देवासरोड उद्योगपुरी में जेमिनी इंजीनियरिंग इंडस्ट्री संचालित करते है। उन्होने सितंबर 2023 में रायसेन बरेली ग्राम अमरावदा कलां के रहने वाले संजू उर्फ संजय पिता रामसिंह विश्वकर्मा को रखा था। 30 नवबंर की सुबह 5.30 बजेचौकीदार लखनसिंह ने उन्हे इंडस्ट्रीज का मेन गेट खुला होने की खबर दी। वह इंडस्ट्री पहुंचे और सीसीटीवी कैमरों के फुटेज देखे। ड्रायवरी करने वालासंजू उर्फ संजय महिन्द्रा बोलेरो क्रमांक एमपी 13 जीए 9945 लेकर जाता दिखाई दिया। बिना सूचना तड़के बोलेरो लेकर जाने पर उससे संपर्क का प्रयास किया गया। लेकिन संपर्क नहीं हो पाया। जब वह काफी देर तक नही लौटा तो मामले की शिकायत नागझिरी थाने पहुंचकर दर्ज कराई। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर ड्रायवर संजय विश्वकर्मा के खिलाफ चोरी का प्रकरण दर्ज कर जांच में
लिया गया। पुलिस ने बोलेरो के जाने वाले रास्तों के फुटेज देखे। जिसमें देवास की ओर जाना सामने आया। पुलिस टीम देवास भी पहुंची, लेकिन आगे के फुटेज नहीं मिल पाये। लगातार बोलेरो के साथ ड्रायवर का मोबाइल नबंर ट्रेस किया जा रहा था। 44 दिन बाद बोलेरो होशंगाबाद  नर्मदापुरम स्थित पिपरिया में होना सामने आई। टींआई कमलसिंह गेहलोत, एसआई जीएस मंडलोई, सायबर सेल
एसआई प्रतीक यादव, एएसआई रोहित पारस, प्रधान आरक्षक प्रेम सबरवाल, आरक्षक मनीष यादव, रोहित मिश्रा, सैनिक लखन की टीम आरोपी की तलाश में रवाना हुई।जहां से बोलेरो को जब्त कर ड्रायवर को हिरासत में लेकर शुक्रवार रात लौट आई। शनिवार को  न्यायालय में पेश कर पूछताछ के लिये एक दिन की रिमांड पर लिया गया है। भोपाल में हत्या कर आया था उज्जैन टीआई गेहलोत ने बताया कि महिन्द्र बोलेरो चुराकर भागे आरोपित के अपराधिकरिकार्ड पता करने पर सामने आया कि वह भोपाल में इटखेड़ी में  पांच माह
पूर्व कमल मीणा नामक युवक की हत्या कर फरार हुआ था। उसने उज्जैन में आकर जेमिनी इंजीनियरिंग इंडस्ट्री ड्रायवर की नौकरी प्राप्त कर ली थी। भोपाल  पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी पर पांच हजार का इनाम घोषित किया है। आरोपित के खिलाफ भोपाल के मिसरोद थाने में बाइक चोरी का प्रकरण  2017 में भी दर्ज हो चुका है। खुद संचालित कर रहा था बोलेरो नागझिरी इंडस्ट्रीज एरिया से बोलेरो चुराकर ले जाने के बाद एक माह से आरोपित संजय विश्वकर्मा खुद उसे संचालित कर रहा था। वारदात के समय बोलेरो में फेब्रिकेशन का सामान लोड़ था, जो उसने ठिकाने लगा दिया था। वह बोलेरो लोडिंग होने पर माल ढोने का काम कर रहा था। रिमांड अवधि में लोड़ सामान बरामद करने का प्रयास किया जा रहा है।

Author: Dainik Awantika