चामुंडा माता मंदिर व लायंस ऑफ उज्जैन द्वारा एक साथ दो गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज करने की तैयारी

दैनिक अवन्तिका
उज्जैन। 31 दिसंबर रविवार को वर्ष 2023 के अंतिम दिन चामुंडा माता मंदिर के नाम एक साथ दो गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज करने की तैयारी की जा रही है। इस दिन इतिहास में प्रथम बार निर्धन एवं वंचित वर्ग के लिए सबसे बड़ा स्वरूचि भोज (बफेट) व इंतिहास में प्रथम बार भारत के सर्वाधिक हिंदू तीर्थों सप्तपुरी, चारधाम, द्वादश ज्योतिर्लिंग, 51 शक्तिपीठ आदि का एक छत के नीचे दर्शन का वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया जाएगा।  ज्ञातव्य है कि पूर्व में भी चामुंडा माता भक्त समिति दो गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड बना चुकी है। जिसमें सर्वाधिक साबुदाना खिचड़ी बनाने एवं वितरित करने का रिकॉर्ड अपने नाम किया था। भारतीय खाद्य एवं मानक प्राधिकरण द्वारा सेफ भोग प्रमाण पत्र भी समिति को प्रदान किया जा चुका है। लॉकडाउन में भी चामुंडा माता भक्त समिति ने 10 लाख भोजन पैकेट वितरण कर उज्जैन का नाम गौरवान्वित किया था। संयोजक पं. शरद चौबे, पं. सुनील चौबे एवं वरिष्ठ सदस्य राजेन्द्र शाह के अनुसार भक्त समिति के स्थापना दिवस 1 जनवरी के उपलक्ष्य में मंदिर का नाम मंदिर की भोजनशाला से भोजन वितरण के कारण भी गौरवान्वित हुआ है। इसी तारतम्य में शरद चौबे, सुनील चौबे, राजेन्द्र शाह द्वारा विचार विमर्श में गरीबों को भोजनशाला से भोजन कराने के दौरान जो लोग भोजनशाला में लाइन में लगकर इंतजार कर भोजन ग्रहण करते हैं उनके लिए एक सामूहिक भोज बफेट करने निर्णय लिया गया। जिसको साकार करने का प्रण लिया एवं यह आयोजन 31 दिसंबर को किया जाना प्रस्तावित किया गया। इसके साथ ही लॉकडाउन में मंदिर परिसर में निर्मित सचित्र भारत दर्शन के संबंध में गोल्डन बुक से चर्चा करने पर उनके द्वारा यह बताया गया कि ऐसी भारत दर्शन की व्यवस्था कहीं नहीं है। इसलिए क्यों न आप इसका भी वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज कराये। इस पर विचार कर इसका भी वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने का विचार किया गया। इस ऐतिहासिक प्रकल्प के प्रयोजन को लेकर चामुंडा माता मंदिर समिति के वरिष्ठ सदस्य पं. निखिल चौबे, रमेश टेमनिया, सुनील नागर, किशोर मुलानी, ऋषि पटेरिया, पं. वरूण पंड्या, पंकज सूर्यवंशी, संदीप परमार, अश्विन नरूला, श्रीकांत वर्मा, देवेन्द्र दाभाड़े, श्याम राठौर, रमाशंकर जायसवाल, विनोद कश्यप, सौरभ भाटिया, धीरेन्द्र नाहटा, सुरेश सूर्यवंशी, दुष्यंत वर्मा, उमेशसिंह भदौरिया, संतोष सोलंकी, वीरेन्द्र टेटवाल, विजय खत्री, पंकज राठौर, महेन्द्र कक्कड़, सतीश डागा, सुनील परिधर, शेखर श्रीवास, दिलीप लुधवानी, श्याम धनवानी, सौरभ माहेश्वरी, महेन्द्र सेन, लक्ष्मण गुप्ता, अशोक वासवानी, हरिसिंह यादव, रवि राय, संजीव अग्रवाल, वैभव शाह, अशोक माहेश्वरी, वेदांत चौबे सहित माता के अनन्य भक्तों ने उज्जैन का नाम दूसरी बार गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड में पुनः 2 रिकॉर्ड दर्ज कराने के लिए इस वृहद स्तर के आयोजन की सराहना की है। भक्त समिति ने इस आयोजन में शहर के समस्त भक्तों को सहभागिता हेतु आमंत्रित किया है।
Author: Dainik Awantika