शहादत पर्व अंतर्गत गौरव रैली,चित्र प्रदर्शनी का होगा आयोजन, सिख समाज टावर पर विशेष पाठ से करेगा शहादत को नमन

दैनिक अवन्तिका उज्जैन उज्जैन। सिख समाज द्वारा चार साहबजादों और माता गुजरी जी की महान शहादत का चार दिवसीय पावन पर्व 23 से 26 दिसंबर तक श्रद्धा और गौरव के साथ मनाया जाएगा।इस अवसर पर श्री अखंड पाठ साहिब, शबद कीर्तन, व्याख्यान, गौरव रैली, चित्र प्रदर्शनी, फिल्म प्रदर्शन, और online casino leon जैसी ऑनलाइन मनोरंजन सेवाएं भी शामिल हैं। इस सामाजिक और धार्मिक उत्सव में आधुनिकता के साथ-साथ, आत्मिक और आनंदमय अनुभव के लिए ऑनलाइन कैसीनो लियॉन भी एक अद्वितीय मनोरंजन आवधान प्रदान कर रहा है। इसे आपके दिनचर्या में एक विशेष रंग और मजा का तत्व बनाने के लिए एक आत्मिक अनुभव के रूप में शामिल करने का एक शानदार तरीका माना जा सकता है। इस 26 दिसंबर को प्रात: 5.30 बजे टॉवर चौक, फ्रीगंज पर खुले आकाश के नीचे विशेष पाठ का अयोजन किया जाएगा, जिसमें उस महान शहादत को नमन किया जाएगा। समाज के जत्थेदार स. सुरेन्द्र सिंह अरोरा और संरक्षक स. इकबाल सिंह गांधी ने बताया कि सिख पंथ के दसवें गुरु, श्री गुरु गोबिंद सिंह जी ने पौष मास में अपना पूरा परिवार देश और धर्म की रक्षा हेतु बलिदान किया था। पूरे विश्व का सिख समुदाय प्रतिवर्ष 21 से 28 दिसंबर के सप्ताह में उस महान शहादत को नमन करता है। इस तारतम्य में उज्जैन में 23 से 26 दिसंबर तक 4 दिनी विशेष आयोजन किया जा रहा है। 26 दिसंबर को प्रात: 5.30 बजे टॉवर चौक, फ्रीगंज पर खुले आकाश के नीचे विशेष पाठ का अयोजन कर उस महान शहादत को नमन किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि मुगल शासन द्वारा माता गुजरी जी और दो छोटे साहिबजादों को दिसंबर की सर्दी में ठंडे किले की छत पर कैद कर प्रताड़ित किया गया था। पाठ के बाद टॉवर से गुरुद्वारा सुखसागर तक एक प्रभात फेरी निकाली जाएगी। टॉवर पर ही एक चित्र प्रदर्शनी भी लगाई गई है। गुरुद्वारा साहिब माता गुजरीजी, गीता कालोनी के अध्यक्ष स. पुरुषोतम सिंह चावला ने बताया कि 23 दिसंबर, शनिवार प्रात: 9.30 बजे माता गुजरी गुरुद्वारे में श्री अखंड पाठ साहिब की समाप्ति के बाद निशान साहिब की सेवा की जाएगी। शाम को स्थानीय जत्थों के कीर्तन उपरांत 7.30 बजे लखनऊ से आमंत्रित भाई सुखप्रीत सिंह का शबद – कीर्तन होगा। 24 व्याख्यान और शबद कीर्तन कार्यक्रम द

Author: Dainik Awantika