बड़नगर के पुराने पुल पर सुरक्षा की कमी, रेलिंग टूटी जालियां भी निकाल ली

दैनिक अवन्तिका(उज्जैन) शिप्रा नदी के पुराने बड़नगर पुल की रेलिंग कई जगह से टूट गई है। लेकिन इस और किसी का ध्यान नहीं है। यहां पर कई बार वाहन असंतुलित होकर रेलिंग से टकरा गए हैं इस वजह से रेलिंग के पाइप टूट कर नीचे गिर गए हैं। लेकिन अभी तक यहां पर नई रेलिंग नहीं लगाई गई है। यहां से निकलने वाले वाहनों के लिए यह हादसे का कारण बन रही है। अक्सर यहां से निकलने वाले वाहन तेज गति से आते हैं और दोनों तरफ की रेलिंग टूटी होने से हमेशा यहां लोगों के गिरने का डर बना रहता हैं। बारिश के बाद बड़नगर के पुराने पुल की रेलिंग को वापस लगाया गया था। लेकिन पुल पर जो रेलिंग लगाई गई है वह कई जगह से टूट गई है और हादसे को आमंत्रण दे रही है। जबकि बड़नगर पुल पर प्रशासन ने इसके पहले सुरक्षा के उचित इंतजाम किए थे हादसा ना हो इसके लिए यहां पर रेलिंग के साथ ही जाली भी लगाई थी। लेकिन अब वर्तमान स्थिति में बड़नगर के पुराने पुल पर जो लेपलाली बरती जा रही है। उस पर किसी का ध्यान नहीं है पुल का मार्ग उबड़खाबड़ तो है ही साथ ही रेलिंग नहीं होने की वजह से यहां से निकलने वाले वाहन चालकों के लिए हमेशा खतरा बना रहता है।
सिंहस्थ खत्म होने के बाद वापस निकाल ली जालियां सिंहस्थ के दौरान लोगों की भीड़ को देखते हुए प्रशासन ने यहां रेलिंग के साथ दोनों तरफ जालियां लगाकर पुल पर सुरक्षा के इंतजाम किए थे लेकिन सिंहस्थ खत्म होने के बाद वापस पुल पर लगी जालियां निकाल ली। लेकिन अब पुल की स्थिति खतरनाक हो गई है और यहां से निकलने वाले लोगों को हमेशा संभल कर निकलना पड़ रहा है। वही पैदल चलने वाले लोगों के लिए भी यहां से निकलना खतरे से खाली नहीं है।
Author: Dainik Awantika