April 15, 2024

उज्जैन। बीती रात 1 बजे मासूम के गले में रस्सी बांधने के बाद पिता भी फांसी पर लटक गया। पुलिस ने दरवाजा तोड़कर दोनों को नीचे उतारा और अस्पताल लेकर पहुंची। मासूम की जान बचा ली गई है पिता की हालत आज सुबह तक गंभीर बनी हुई थी।

मामला पति-पत्नी के बीच विवाद के बाद होना सामने आया है।ढांचा भवन में रहने वाले कुछ लोगों ने डायल हंड्रेड पर कॉल किया था और बताया कि दरवाजा बंद करने के बाद अमर पिता बजरंगदास बैरागी 35 वर्ष ने अपने चार साल के मासूम बेटे जिगर के गले में रस्सी बांधकर लटका दिया है और खुद ने भी फंदा गले में डाल लिया है। सूचना मिलते ही टीआई आनंद तिवारी टीम के साथ मौके पर पहुंच गए। दरवाजा तोड़ा गया और दोनों को फंदे से उतार कर जिला अस्पताल लाया गया। डॉक्टर ने परीक्षण के बाद आकाश की हालत गंभीर होना बताई और आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया। मासूम जिगर का उपचार शुरू किया गया और कुछ देर में ही उसकी जान को बचा लिया गया रात 2 बजे हालत में सुधार आने पर मासूम को जिला अस्पताल से चरक भवन भेजा गया। आज सुबह तक पिता की हालत गंभीर बनी हुई थी।