जागे देव, बजी शहनाई, सांदीपनि आश्रम में हुआ तुलसी विवाह

दैनिक अवंतिका\(उज्जैन) देव उठनी ग्यारस पर गुरुवार को देवों के जागने पर मंदिरों में उत्सव हुए।घंटे-शंख बजाकर भगवान की आरती की गई। लोगों ने पूजा-अर्चना कर देव दिवाली मनाई।घरों व मंदिरों में शाम के समय गोधूलि बेला में तुलसी विवाह हुए। अबूझ मुहूर्त में शादी की शहनाई भी गूंजने लगी। सड़कों पर बैंड-बाजों के साथ बारातें नजर आई। घरों में शाम को दीप जगमगाए तो आतिशबाजी भी की गई। उज्जैन के मंगलनाथ मार्ग पर प्रसिद्ध सांदीपनि आश्रम में शाम को तुलसीविवाह किया गया। पुजारी रूपम व्यास ने बताया कि भगवान श्री कृष्ण की शिक्षा स्थली पर परंपरागत रूप से तुलसी विवाह किया गया। वहीं उज्जैन के सिंधिया ट्रस्ट के द्वारकाधीश गोपाल मंदिर में भी तुलसी विवाह हुआ। मंदिर के प्रबंधक अजय ढकने ने बताया विवाह को देखने के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु भी उमड़े।

Author: Dainik Awantika