दशहरे पर चीन सामानों का विरोध चीनी राष्ट्रपति के चेहरे को बनाया रावण…..रावण खुद जल उठा , शूर्पनखा जब्त

इंदौर। शहर में सबसे बड़ा दशहरा मैदान का 111 फीट ऊंचाई वाला रावण 1 मिनट 18 सेकंड में जलकर भस्म हो गया। यहां 250 फीट की लंका भी बनी थी। जब इस लंका में आग लगाई गई तो एक पटाखा उड़कर रावण के पैर में जा लगा इससे रावण भी जलने लगा। इतना ही नहीं शहर के लोगों ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को भी रावण बनाया और आग लगाकर चीन के सामान का विरोध किया। तिलक नगर ग्राउंड पर मोबाइल की लाइट जलाकर पंडित भवानी कश्यप सहित अन्य को श्रद्धांजलि भी दी गई।

विजयादशमी पर कई स्थानों पर बुराई के प्रतीक रावण के पुतलों का दहन हुआ। चुनाव आयोग में शिकायत के बाद सूर्पनखा के पुतले को महालक्ष्मी नगर से जब्त कर लिया गया। कांग्रेस ने शिकायत की थी कि भाजपा प्रत्याशी कैलाश विजयवर्गीय के बयान से जुड़ा हुआ सूर्पनखा का पुतला है। जबकि पुतला बनाने वाली संस्था का कहना था कि कुछ महिलाएं अपने निजी स्वार्थ के कारण पिता और भाई को भ्रमित करके पति पर झूठे आरोप लगा देती हैं और उन पर अपराधिक प्रकरण दर्ज करवा देती हैं। ऐसी आज की सूर्पनखाओं पर यह पुतला है। शूर्पणखा ने भी ऐसा ही किया था। उसने अपने भाई रावण से झूठ बोलकर राम -रावण युद्ध करवा दिया। चुनाव आयोग ने फिलहाल इस संस्था के किसी भी तर्क को नहीं माना है और पुतला जब्त कर लिया गया।

Author: Dainik Awantika