मध्य प्रदेश में संघ भी चुनावी तैयारी में जुटा , प्रत्याशियों को जिताने को लेकर बनाई रणनीति

दैनिक अवंतिका(इंदौर) राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ विधानसभा चुनाव में फिर से सक्रिय होगा। संगठन के शीर्ष विचारकों का सोचना है कि यदि राष्ट्रीय विचारों या मुद्दों पर निर्णय लेना है तो राज्यों में अनुषांगिक संगठन (भाजपा) को जिताना होगा।यहीं कारण है कि इस विधानसभा चुनाव में संघ पूरी ताकत से भाजपा उम्मीदवारों को जीताने के लिए काम करेगा। यह फैसला संघ की उच्च स्तरीय बैठक में लिया गया है। संघ से जुड़े एक पदाधिकारी के मुताबिक देश में दो विचारधाराएं काम कर रही हैं। पहली मेक इन इंडिया जो देश बनाने की बात कर रही है तो दूसरी है ब्रेक इन इंडिया। हमें यह सोचना होगा कि हमें किसके साथ जाना है। यहाँ कारण है संघ के आंतरिक रूप से चुनाव में उतरने का चुनाव में ऐसे वर्ग को आगे लाना उद्देश्य है, जो राष्ट्रीय विचारधारा को मानता हो। समानांतर रूप से भाजपा के लिए वातावरण बनाएंगे संघ सूत्रों की मानें तो इस चुनाव में संघ समानांतर रूप से भाजपा के लिए वातावरण बनाएगा। मुख्य रूप से बागी उम्मीदवार को निष्फल करने, हिंदू बहुत छात्रों की वोटिंग 90 प्रतिशत तक बढ़ाने एवं भविष्य में देश के सामने आने वाली समस्याओं की जानकारी आम मतदाता तक पहुंचाने की जिम्मेदारी का निर्वहन स्वयंसेवकों द्वारा किया जाएगा। हर सीट पर संघ की नजर होगी। हालांकि साल 2018 के चुनाव में भाजपा ने मातृ संस्था की सिफारिशें लगभग दरकिनार कर दी थी। इसलिए संघ ने खुद को पिछले चुनाव से अलग कर लिया था। इस बार भाजपा के भी केंद्रीय नेतृत्व ने एक लाइन दी है, जो सामूहिक नेतृत्व की है। यह लाइन भी संघ गलियारों से ही निकली थी। यह भी संदेश स्थानीय संगठन को दिया गया कि अब दिल्ली से ही सारी चीजें हैंडल होगी। अब तक दो दौर की बैठकें, हर सीट पर रहेगी नजर लोकसभा चुनाव को भी मद्देनजर रखते हुए चलेगा अभियान। संघ की अब तक दो दौर की बैठकें राष्ट्रीय सह सरकार्यवाह और भाजपा संघ के बीच मध्यस्थता की जिम्मेदारी देख रहे अरुण कुमार ले चुके है। पहली बैठक मालव प्रांत की और दूसरी मध्यभारत के लिए हुई एक बैठक अभी बची है।हिंदू विचारधारा को स्थापित करेंगे संघ का मानना है कि देश पर अभी भी विचारधारा से आक्रमण हो रहा है और ऐसी ताकतों को विरोधी राजनीतिक दलों का सहयोग प्राप्त हो रहा है। इसलिए हिंदू विचारधारा को राष्ट्रीय विचारधारा के रूप में पूरे देश में स्थापित करने के लिए प्रयत्न जरूरी है। 2024 के लोकसभा चुनाव के पहले पूरे देश में हिंदू विचारधारा को प्रभावशाली रूप से प्रस्तुत करना होगा। आज विजयादशमी के अवसर पर संघ द्वारा पथ संचलन भी निकाले जाएंगे। इंदौर में 300 से ज्यादा पथ संचलन एक ही समय निकाले जाएंगे। इस बार बाल शाखाओं का संचलन भी निकाला जाएगा।
Author: Dainik Awantika