दहन से पहले गली-गली में सुनाई देगी रावण की दहाड़ -24 को दशहरा मैदान और कार्तिक मेला ग्राउंड में होगा दहन

दैनिक अवन्तिका(उज्जैन) बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक दशहरा शहर में 24 अक्टूबर (मंगलवार) को मनाया जाएगा। दशहरे पर रावण दहन की परंपरा चली आ रही है। इस दिन गली-गली से रावण की दहाड़ सुनाई देगी। नए शहर में दशहरा मैदान और पुराने शहर में कार्तिक मेला ग्राउंड पर भव्यता के साथ आतिशबाजी के बीच रावण का दहन किया जाएगा। बाबा महाकाल की नगरी में रावण दहन की सबसे पुरानी परंपरा 60 वर्षो से दशहरा मैदान पर स्वर्गीय लाल अमरनाथ खत्री परिवार द्वारा निभाई जा रही है। 24 अक्टूबर को रावण के पुतले का दहन आतिशबाजी के साथ किया जाएगा। इसी दिन कार्तिक मेला ग्राउंड पर स्वर्गीय प्रेम नारायण यादव की स्मृति में रावण का दहन होगा। रावण के पुतलों का निर्माण अंतिम चरणों में पहुंच चुका है। सोमवार शाम से रावण को खड़ा करने का काम शुरू कर दिया जाएगा। शहर में बड़े स्तर पर होने वाले रावण दहन आयोजनों के साथ गली मोहल्ले और चौराहो पर भी बच्चों और युवाओं द्वारा 10 से 15 फीट ऊंचे रावण के पुतलों का दहन किया जाता है।
शास्त्रीनगर और नानाखेड़ा पर होगा दहन

Author: Dainik Awantika