कुछ लोग भारत और उसकी विरासत को बदनाम करने की कर रहे हैं कोशिश

विपक्ष का नाम लिए बगैर इंदौर में उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कसा तंज

देवी अहिल्या को नमन किया,नाथ मंदिर में किया ध्वज स्तंभ का अनावरण, शिवाजी वाटिका का भी किया लोकार्पण

इंदौर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार को इंदौर आए। वे एयरपोर्ट से हेलिकॉप्टर से सीधे उज्जैन पहुंचे। महाकाल का अभिषेक किया। भर्तृहरि की गुफा के दर्शन किए। इसके बाद दोपहर में इंदौर लौट आए। यहां राजबाड़ा स्थित देवी अहिल्या प्रतिमा पर नमन कर माल्यार्पण किया। फिर वे नाथ मंदिर पहुंचे और ध्वज स्तंभ का अनावरण किया। मंदिर परिसर में 40 फीट का ध्वज स्तंभ बनाया गया है। इसमें नाथ सम्प्रदाय के चिन्ह अंकित हैं। माधवनाथ महाराज के दर्शन भी किए।
शिवाजी वाटिका में लोकार्पण करते हुए योगी छत्रपति शिवाजी महाराज के राज्यभिषेक की 350वीं वर्षगांठ पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्होंने स्वच्छता और स्मार्ट सिटी में नंबर आने पर बधाई दी।
उन्होंने कहा कि आप सभी ने प्रधानमंत्री मोदी जी के स्वच्छता के मिशन को ऊंचाईयों पर पहुंचाया है। हिंदवी स्वराज्य के संस्थापक छत्रपति शिवाजी महाराज की 350वीं वर्षगांठ मनाने की शुरुआत इंदौर ने ही की है। मुझे यकीन है कि इसकी झनकार कन्याकुमारी से कश्मीर तक जाएगी। उस समय के सबसे क्रूर मुगल शासक को चुनौती देने वाले शिवाजी महाराज को आज भी श्रद्धा और सम्मान से याद किया जाता है।

विपक्ष पर नाम लिए बिना कसा तंज

योगी ने कहा कि देश में ऐसे कई लोग हैं जो भारत और भारत की विरासत को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्हें राम और कृष्ण की परंपरा अच्छी नहीं लगती। ऐसे लोग विदेशी हुकूमत को आज भी अपना आका मानते हैं। ऐसे विचार के लिए भारत में जगह नहीं होना चाहिए। उन्होंने उप्र के कवि भूषण की कविता का उल्लेख करते हुए कहा-

दावा द्रुम दंड पर, चीता मृगझुंड पर,
‘भूषन वितुंड पर, जैसे मृगराज हैं।
तेज तम अंस पर, कान्ह जिमि कंस पर,त्यौं मलिच्छ बंस पर, सेर शिवराज हैं॥

योगी ने इसका भावार्थ कुछ यूं बताया…

जिस प्रकार जंभासुर पर इंद्र, समुद्र पर बड़वानल, रावण के दंभ पर रघुकुल राज, बादलों पर पवन, रति के पति अर्थात कामदेव पर शंभु अर्थात भगवान शिव, सहस्त्रबाहु पर परशुराम, पेड़ों के तनों पर दावानल, हिरणों के झुंड पर चीता, हाथी पर शेर, अंधेरे पर प्रकाश की एक किरण, कंस पर कृष्ण भारी हैं उसी प्रकार म्लेच्छ वंश पर शिवाजी शेर के समान हैं।
वे यहां 20 मिनट रुककर मुख्य कार्यक्रम में शामिल होने के लिए रवीन्द्र नाट्य गृह पहुंचे। कार्यक्रम की अध्यक्षता पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने की।
उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का इंदौर एयरपोर्ट पर मप्र सरकार में जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट और इंदौर महापौर पुष्यमित्र भार्गव ने स्वागत किया।

महापौर ने मां अहिल्या की प्रतिमा पर किया माल्यार्पण

देवी अहिल्या बाई होलकर की 228वीं पुण्यतिथि पर राजवाड़ा स्थित अहिल्या प्रतिमा पर पूजन कर महापौर पुष्यमित्र भार्गव और लोकसभा की पूर्व अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने माल्यार्पण किया।
देवी अहिल्या की प्रतिमा पर माल्यार्पण के दौरान केंद्रीय जल शक्ति मंत्रालय मंत्री प्रहलाद पटेल, महापौर पुष्यमित्र भार्गव सहित कई नेता एवं पार्षद उपस्थित थे।

विवेक गावडे का सम्मान

कार्यक्रम में स्वास्थ्य एवं संगीत के क्षेत्र में काम करने वाले विवेक गावड़े का सम्मान किया गया। समिति की मालसिंह ठाकुर, ज्योति तोमर एवं शरयू वाघमारे ने बताया कि गावडे ने स्वास्थ्य एवं संगीत के क्षेत्र में आपने राजीव गांधी एक्सिलेंस अवॉर्ड, विजय रत्न गोल्ड मेडल, श्रीलंका में पीएचडी सहित कई अवॉर्ड हासिल किए हैं। उन्होंने एशिया पेसिफिक अचीवर्स अवॉर्ड भी हासिल किया है।

You may have missed