कानून व्यवस्था हो या जनकल्याण चुस्ती-फुर्ती और सावधानी में कमी न आने दें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कमिश्नर, आईजी व कलेक्टर-एस.पी. कॉन्फ्रेंस में दिए निर्देश

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कमिश्नर, आईजी व कलेक्टर-एस.पी. कॉन्फ्रेंस को समत्व भवन से वर्चुअली संबोधित करते हुए प्रदेश में कानून- व्यवस्था की स्थिति, फसलों की स्थिति की सतत निगरानी, खाद की आपूर्ति, बिजली व्यवस्था, हितग्राही मूलक योजनाओ में समय पर भुगतान, नल-जल योजनाओं के क्रियान्वयन और विकास रथों के संचालन के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कानूनव्यवस्था बनाए रखना हमारी ड्यूटी है, यह मेरी भी ड्यूटी है। हम अपनी चुस्ती, फुर्ती और सावधानी में कोई कमी न आने दें। पुलिस महानिदेशक तीज त्यौहार में कानून व्यवस्था की निरंतर समीक्षा करते रहें। एसपी-कलेक्टर शांति समिति की बैठक कर आवश्यक निर्णय लें,प्रदेश में सभी ओर शांति और सुरक्षा का वातावरण बनाएं।

जहां नुकसान, वहां राहत दी जाएगी-

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रसन्नता का विषय है कि प्रदेश में वर्षा आरंभ हुई है। इससे कई फसलों को जीवनदान मिलेगा, लेकिन कई जगह सोयाबीन की फसलों का नुकसान हुआ है। किसान चिंता न करें, किसानों का कल्याण हमारी सरकार की प्राथमिकता है। सभी जिला अधिकारी फसलों की स्थिति पर नजर रखे। जहां भी अल्प वर्षा के कारण नुकसान की स्थिति निर्मित होगी, वहां राहत दी जाएगी, फसल बीमा का भी भुगतान होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि क्षति का आकलन कर आरबीसी 6(4) के अंतर्गत राहत दी जाएगी। यह हमारा कर्तव्य है।उन्होंने कहा कि बिजली को लेकर अब स्थिति सामान्य हैं, लेकिन हम बिजली की स्थिति पर लगातार नजर रखे हुए हैं। कलेक्टर-कमिश्नर भी अपने क्षेत्रों में ऊर्जा विभाग के साथ आपूर्ति की स्थिति का आंकलन करते रहें। कृषि के लिए 10 घंटे बिजली आपूर्ति सुनिश्चित कराई जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किसानों को फसलों के नुकसान से बचाने के लिए आवश्यक मार्गदर्शन उपलब्ध कराने की व्यवस्था विकसित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि किसानों को परिस्थितियों के अनुरूप त्वरित मार्गदर्शन उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जाए। जिले की जल उपयोगिता समिति की बैठक कराने तथा बैठक में फसलों के लिए बांध से पानी की आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए।प्रदेश में उर्वरकों की कोई कमी नहीं है, जिलों में खाद की आपूर्ति सुनिश्चित कराना कलेक्टर की जिम्मेदारी है। जिले में खाद की उपलब्धता का समय पर आंकलन कर, जिले की मांग से राज्य शासन को अवगत कराया जाए। यह सुनिश्चित करना आवश्यक है कि किसानों को जरूरत के समय खाद उपलब्ध हो।

शीघ्र लागू होगी जन आवास योजना-

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि शीघ्र ही प्रदेश में मुख्यमंत्री जन आवास योजना लागू की जा रही है। वो गरीब जिनके नाम प्रधानमंत्री आवास तथा आवास प्लस में शामिल नहीं हो सके हैं, उन्हें इस योजना के अंतर्गत आावस उपलब्ध कराए जाएंगे। यह सुनिश्चित करना आवश्यक है कि इस कार्य में कोई भी अनैतिक गतिविधि शुरू न हो।

प्रधानमंत्री 14 सितम्बर को 2 लाख करोड़ के कार्यों की शुरूआत करेंगे-

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि 14 सितंबर को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी बीना पधार रहे हैं। पेट्रो केमिकल उत्पाद पर आधारित 50 हजार करोड़ का निवेश प्रदेश में आ रहा है। प्रधानमंत्री श्री मोदी लगभग 2 लाख करोड़ के कार्यों की शुरूआत करेंगे। इससे प्रदेश में 3 लाख से अधिक रोजगार के अवसर सृजित होंगे। प्रधानमंत्री श्री मोदी का आगमन प्रदेश के लिए सौभाग्य का विषय है। समत्व में हुई बैठक में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस सहित प्रदेश के बडे अधिकारी उपसि्थत थे।

Author: Dainik Awantika