April 15, 2024

जावरा । नगर में एम टी एफ ई कंपनी का जावरा में खुला आॅफिस अचानक बंद हो गया। इसमें निवेश कर चुके कई लोगों के मिलाकर करोड़ों रुपए भी डूब गए। कंपनी भारतीय मुद्रा में राशि निवेश करवाने के बाद आॅनलाइन शेयर ट्रेडिंग ऐप के जरिए अकाउंट आईडी बनाती थी। उसमें आपने जितने रुपए निवेश किया उतनी कीमत के डॉलर आपके खाते में क्रेडिट दिखाए जाते थे ।फिर इसी से फॉरेन कंपनी के शेयर ट्रेडिंग शेयर का बिजनेस चलता था ।निवेश के हिसाब से रोज निवेशकों के खातों में फिक्स राशि आती थी ।इसी लालच में कई लोगों के करोड़ों रुपए उलझ गए। इसमें पुलिसकर्मी भी चपेट में आ गए।
इसको लेकर बुधवार को करीब 30 लोगों द्वारा एक शिकायत आवेदन पत्र सी एसपी दुर्गेश आर्मी को दिया जिसमें कंपनी के 6 जवाबदारो जिसेसे लेनदेन किया उनको आरोपी बनाया ।पत्र में कहा कि एमटीएस इ कंपनी ने आॅफिस खोलकर कंपनी के नाम से जगह-जगह प्रचार कर सेमिनार लगाकर व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर उक्त कंपनी के नाम प्रचार कर लोगों को उक्त कंपनी एमडीएफ इ में पैसा लगाकर भारी मुनाफा कमाने का लालच देकर काफी लोगों से उक्त कंपनी के नाम पैसे लिए ।तथा धोखा घडी में उक्त कंपनी के साथ देते हुए उसका प्रचार करके नगर के लोगों से करोड़ों रुपए एकत्रित कर धोखा घड़ी की है इन पर कार्रवाई की जाने की मांग की है सीएसपी दुर्गेश आर्मो ने कहा 30 लोगों के नाम से आवेदन आए हैं ।उनके बयान एवं जांच कर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी। वही उक्त कंपनी में लाखों रुपए डूबा चुके मोहम्मद सलीम निवासी छिपा पूरा ने कहा कि मैंने अपनी कृषि भूमि चार बीघा को गिरवी रखकर एवं कर्ज लेकर उक्त कंपनी में पैसा लगाया लेकिन वह फरार हो गए। कंपनी के विरोध मे शिकायत पत्र दिया।