April 15, 2024

स्कूटी प्राप्त करना भाग्य एवं पढ़ाई में मेहनत का फल -विधायक जैन

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.यादव के मुख्य आतिथ्य में छात्रों को ई-स्कूटी वितरण कार्यक्रम सम्पन्न

उज्जैन । शिक्षा की महत्ता ही इतनी है कि भगवान श्रीकृष्ण, भाई बलराम एवं सखा सुदामा ने उज्जयिनी में स्थित गुरू सान्दीपनि आश्रम में शिक्षा ग्रहण करने उस समय आये थे। शिक्षा जगत में भारत सरकार एवं राज्य सरकार नित-नये काम कर रही है। सरकार के द्वारा राष्ट्रीय नई शिक्षा नीति लागू कर एक कीर्तिमान स्थापित किया है। देश में मध्य प्रदेश सरकार ने नई शिक्षा नीति को सबसे पहले लागू किया है। पढ़ाई से हमारी जिन्दगी बनती है। इसलिये छात्र अधिक मेहनत कर शिक्षा में अव्वल स्थान प्राप्त करें। छात्र इस पर विशेष ध्यान दें। हर हाथ को काम मिले, इस उद्देश्य से सरकार विशेष काम कर रही है।

इस आशय के उद्गार आईसीई स्कूटी योजना के अन्तर्गत जिला स्तरीय ई-स्कूटी वितरण कार्यक्रम में दिये। उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.यादव ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में आने वाला दौर प्रतियोगिता में प्रथम आने पर ही सरकार की उक्त योजना का लाभ मिलेगा। उन्होंने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि राष्ट्रीय नई शिक्षा नीति पर कार्यशालाएं आयोजित कर छात्रों को जानकारी दी जाये। पुस्तक मेला पहले दिल्ली में ही आयोजित किया जाता रहा है, परन्तु अब उज्जैन में भी अगले सितम्बर माह में पुस्तक मेला आयोजित किया जायेगा। हमारे देश में पहले आक्रांताओं ने शिक्षा में आगे न बढ़े इसलिये उन्होंने पुस्तकों को जलाने का काम किया, परन्तु हमारे बुद्धिजीवियों ने शिक्षा की महत्ता कम न हो इसलिये उन्होंने पुस्तकों को संभालकर रखा। हर क्षेत्र में सरकार काम कर देश को आगे बढ़ाने का कार्य कर रही है। हमारी सोच जियो और जीने दो के भाव की है और इसी उद्देश्य से हम काम कर देश को आगे बढ़ा रहे हैं।

विधायक  पारस जैन ने इस अवसर पर कहा कि स्कूटी प्राप्त करना भाग्य एवं अपनी पढ़ाई में मेहनत का ही फल है। आने वाले समय में अब और छात्रों में प्रतियोगिता होगी। शिक्षा जगत में सरकार के द्वारा मुख्यमंत्री राइज स्कूल खुल रहे हैं। इसमें और छात्र पढ़ाई में आगे निकलेंगे। जिन छात्रों ने हायर सेकेंडरी स्कूल में अधिक अंक लाकर उच्च स्थान प्राप्त करने वाले छात्रों को ई-स्कूटी प्रदान की जा रही है। यह उनकी मेहनत का ही फल है। जिन छात्रों को ई-स्कूटी प्रदान की गई है वे छात्र यातायात नियमों का पालन कर गाड़ी धीमे चलाने की भी हिदायत दी। इस अवसर पर महापौर  मुकेश टटवाल ने भी सम्बोधित कर छात्रों एवं उनके अभिभावकों को हार्दिक बधाई दी। उन्होंने विद्यार्थियों से कहा कि खूब पढ़ाई में मेहनत कर सरकार की उक्त योजना का लाभ अधिक से अधिक लें।

अतिथियों ने प्रतीकात्मक रूप से पांच विद्यार्थियों क्रमश: मॉडल हासे स्कूल घट्टिया के यश कछावा, हासे स्कूल कालूहेड़ा के छात्र राजकुमार, उज्जैन तहसील के हासे स्कूल भैरवगढ़ के लखन, गर्ल्स हासे स्कूल विजयाराजे की निवेदिता सोनारतिया एवं हासे स्कूल संतराम सिंधी कॉलोनी की रोशनी करवाडिया को उनके अभिभावकों की उपस्थिति में चाबी भेंट की। इसके पश्चात छात्रों को कालिदास अकादमी परिसर स्थित पं.सूर्यनारायण व्यास संकुल परिसर में ई-स्कूटी भेंट अतिथियों के द्वारा की गई। इस अवसर पर जिला पंचायत उपाध्यक्ष  शिवानी कुंवर,  बहादुर सिंह बोरमुंडला,  विवेक जोशी, जिला पंचायत सीईओ अजयदेव शर्मा, जिला शिक्षा अधिकारी आनन्द शर्मा, एडीपीसी गिरीश तिवारी, शिक्षा विभाग की योजना अधिकारी  संगीता श्रीवास्तव एवं जिले के छात्र एवं उनके अभिभावकगण आदि उपस्थित थे।

उल्लेखनीय है कि उज्जैन जिले के 183 छात्रों को उक्त योजना में ई-स्कूटी/आईसीई स्कूटी वितरित हुई। इसमें ई-स्कूटी 70 छात्रों को एवं आईसीई स्कूटी 113 इस प्रकार कुल 183 छात्रों को स्कूटी उपलब्ध कराई गई। उज्जैन विकास खण्ड के 49, घट्टिया के 18, महिदपुर के 24, खाचरौद के 39, तराना के 17 एवं बड़नगर विकास खण्ड के 36 विद्यार्थियों को स्कूटी प्रदान की गई ।