April 18, 2024

महाराष्ट्र से रोज 100 टन आ रहा, दो माह बाद इतना ही माल इंदौर से निर्यात होने लगेगा

इंदौर। भोजन की थाली में टमाटर का स्वाद फिर लौट आया है। इंदौर की सबसे बड़ी चोइथराम स्थित देवी अहिल्याबाई सब्जी मंडी में महाराष्ट्र के टमाटर की आवक बढ़ने से भाव आधे से कम हो गए हैं। देश के पश्चिमी हिस्से महाराष्ट्र में टमाटर की सबसे ज्यादा पैदावार होती है।

नासिक के आसपास के गांवों से टमाटर इंदौर पहुंच रहा है। अब फिर से रोजाना करीब 100 टन टमाटर आ रहा है। खेरची भाव 50 से 60 रुपए तो थोक भाव 30 से 35 रुपए तक पहुंच गया है।

इस बीच अच्छी खबर यह है कि दीपावली तक खरगोन, झाबुआ, आलीराजपुर से टमाटर की आवक शुरू हो जाएगी। इसके बाद महाराष्ट्र पर निर्भरता खत्म हो जाएगी। भाव भी 19 से 20 रु. किलो हो जाएंगे। इतना ही टमाटर इंदौर से गुजरात, राजस्थान, छत्तीसगढ़ सहित अन्य जगह निर्यात होने लगेगा।

अभी 800 से 900 रुपए प्रति कैरेट

व्यापारी बताते हैं कि रोजाना 13 से ज्यादा गाड़ियां आ रही हैं। हर गाड़ी में 400 कैरेट टमाटर आ रहा है। एक कैरेट में 23 किलो से ज्यादा टमाटर होते हैं। पहले जहां एक कैरेट की कीमत थोक मंडी में 4 से साढ़े 4 हजार तक पहुंच चुकी थी। वहीं अब एक कैरेट 800 से 900 रुपए के भाव बिक रही है।