April 20, 2024

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा-मोदीजी को रविदास सिर्फ चुनाव में याद आए, ये वोट के लिए कुछ भी करेंगे

सागर ।  कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने मंगलवार को सागर में कहा कि ‘मोदी जी को संत रविदास सिर्फ चुनाव में याद आए। 9 साल से प्रधानमंत्री हैं। शिवराज सिंह भी 18 साल से हुकूमत कर रहे हैं। लेकिन, रविदास जी का मंदिर बनाने की याद अब इसलिए आई, क्योंकि चुनाव आ रहे हैं। वोट लेने के लिए क्या करना है, वो काम मोदी जी हमेशा करते हैं, यहां भी करके गए।’
खड़गे ने कहा कि कांग्रेस की सरकार बनने पर मध्यप्रदेश में जातीय जनगणना कराई जाएगी। इससे मालूम चलेगा कि राज्य में किस तबके के कितने लोग गरीब और पिछड़े हैं। यह भी सामने आएगा कि यहां कितने भूमिहीन लोग हैं।
खड़गे ने सागर के कजलीवन मैदान से कांग्रेस का चुनावी शंखनाद किया। बुंदेलखंड में 22% एससी वोटर हैं। इन्हें साधने के लिए प्रदेश में राष्ट्रीय अध्यक्ष की पहली सभा के लिए सागर को चुना गया। 12 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी सागर आ चुके हैं।
अमित शाह को खड़गे के जवाब
अमित शाह ने मप्र आकर 53 साल का हिसाब मांगा। मैं रिपोर्ट देता हूं। यहां एक व्यक्ति 18 साल से हुकूमत कर रहा है। अभी भी प्रदेश पिछड़ा है।
मोदी जी साढ़े 13 साल गुजरात में हुकूमत किए। दिल्ली में 10 साल होने जा रहे। पौष्टिक आहार में सबसे पिछड़ा राज्य गुजरात है। बच्चे कमजोर हैं। चेला चौहान यहां क्या कहेगा।
टमाटर 2014 में 15 रुपए था, अब 72 रुपए है। सिलेंडर का दाम 166% बढ़ गया। दाल 129% महंगी हो गई। शाह जी को बताओ ये रिपोर्ट कार्ड खड़गे ने सागर में दिया है।
आजादी के पहले साक्षरता दर 18.3% थी। 13-14 में 74% हमने किया। शिशु मृत्युदर भी कम हुई। जन्म और मृत्युदर भी कम हुई। 65% महिलाओं को पढ़ाया।
आप कुछ कर नहीं सकते तो दूसरे पर उंगली उठाते हो। हमने सबके सामने किया। गौर विश्विद्यालय बनवाया। क्या ये मोदी के वक्त में हुआ।
पं. जवाहरलाल नेहरू से लेकर राजीव गांधी तक हमने क्या किया? दुनिया जानती है। मैं फिर आऊंगा और बताऊंगा। इन लोगों का काम झूठ बोलना और झगड़ा कराना है।

भाजपा ने की काले झंडे दिखाने की कोशिश

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के सागर प्रवास के दौरान भारतीय जनता पार्टी के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं ने काले झंडे दिखाने की कोशिश की। वे सभा स्थल की ओर बढ़े, लेकिन कैंट थाना पुलिस ने उन्हें रोक लिया। कुछ नेताओं को पुलिस थाने ले गई।