April 15, 2024

इंदौर। इंदौर में आॅनलाइन ठगी के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। ठग रोजाना नए-नए तरीके से लोगों को झांसा देते हैं, इसके बाद खाते से रुपये निकाल लेते हैं। लसूड़िया थाना क्षेत्र में 15 लोगों के साथ लाखों रुपये की आनलाइन ठगी की घटना हुई है। जिस पर पुलिस ने बुधवार को अज्ञात आरोपित के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया। पुलिस के मुताबिक, श्यामसुंदर लोवंशी ने बताया कि फोन करने वाले ने पेटीएम ब्लाक करने का बोलकर ओटीपी मांगा और खाते से 56 हजार रुपये ट्रांसफर कर लिए। इसी प्रकार श्याम जाधव से बार कोड का इस्तेमाल करवाकर दो बार में 20 हजार रुपये, जितेंद्र कुमार से एनीडेस्क डाउनलोड करवाकर खाते से दो लाख रुपये, भरत सिलावट से एलआइसी अधिकारी बनकर 19 हजार रुपये, कल्पना चौधरी से बिजली विभाग का कर्मचारी बताकर तीन बार में 58,500 रुपये ठग लिए।
विभिन्न तरीकों से लोगों को ठगा
ठग ने दीपा शुक्ला से 1,24,000 रुपये, शिवांक रघुवंशी से फोटो वायरल करने की धमकी देकर 6,400 रुपये, निकुंज पाटिल से वीडियो काल कर वायरल करने की धमकी देकर पांच हजार रुपये, कमलेश सुनहरे से नौकरी का झांसा देकर 5,700 रुपये, कुलदीप पांचाल से युट्यूब चैनल सब्सक्राइब कर पैसे कमाने का झांसा देकर 1,93,600 रुपये ठग लिए।
लोन दिलाने, पैसा कमाने का झंसा दिया
ठग ने राजेश शर्मा से लोन देने के नाम पर 17,700 रुपये, विवेक सिंह से चैनल सब्सक्राइब कर पैसे कमाने का झांसा देकर 82,600 रुपये, सिध्दार्थ यादव से 54 हजार रुपये, हेमंत सोनवाने से साढ़े तीन हजार रुपये ट्रांसफर करवा लिए। इसी प्रकार रजत सिंह ने 1500 रुपये का लोन लिया था, पैसे जमा करने के बाद भी उसके पास धमकी भरे फोन आ रहे हैं। मामले में पुलिस आरोपित की तलाश कर रही है।
फिर टली बहस, एक याचिकाकर्ता ने अतिरिक्त दस्तावेज प्रस्तुत करने के लिए मांगा समय