April 15, 2024

इंदौर। स्वच्छता में नंबर वन इंदौर में अब एक और नया प्रयोग होने जा रहा है। बहुत जल्द काली डामर या सीमेंटेड रोड की बजाय इंदौर में विदेशों की तर्ज पर सफेद सड़कें नजर आएंगी। भविष्य में इंदौर नगर निगम डामर की नहीं, बल्कि व्हाइट टापिंग तकनीक का इस्तेमाल कर सड़कों का निर्माण करेगा। ये सड़कें वर्षों तक खराब नहीं होंगी। इससे हर वर्ष नगर निगम के करोड़ों का बजट बचेगा, जो सड़कों के रखरखाव पर खर्च होता है। यह बात महापौर पुष्यमित्र भार्गव ने कही।

महापौर पुष्यमित्र भार्गव के अनुसार व्हाइट टापिंग तकनीक से सड़क बनाने में सामान्य सड़क के मुकाबले करीब ढाई गुना अधिक खर्च आता है, लेकिन जनता की सुविधा को देखते हुए निगम इस खर्च को वहन करेगा। इन सड़कों पर रखरखाव की समस्या नहीं रहती। ये धंसती भी नहीं हैं। भार्गव ने कहा कि इस वर्ष हमने जो भी नवाचार किए हैं, अगले चार वर्ष में उसे जमीन पर लाया जाएगा।
इंदौर को सोलर सिटी बनाना और शहरवासियों के लिए नर्मदा का चौथा चरण लाना हमारी प्राथमिकता में सबसे ऊपर है।

यातायात व्यवस्था भी सुधरेगी

महापौर भार्गव ने कहा कि आने वाले समय में इंदौर की यातायात व्यवस्था में जबर्दस्त सुधार नजर आएगा। शहर की सड़कों को चौड़ा किया जा रहा है। नए ब्रिज बन रहे हैं। हम सिर्फ पुरानी सड़कों का चौड़ीकरण ही नहीं करेंगे, अपितु नई सड़कें भी बनाएंगे ताकि यातायात का दबाव कम हो सके।