April 15, 2024

इंदौर ।  नगर निगम के कचरा वाहन का इस्तेमाल रील बनाने के लिए करने वालों के खिलाफ विजय नगर पुलिस थाना में शिकायत पहुंची है। इसमें कहा है कि रील बनाने वालों ने कचरा वाहन के हेल्पर से कहा कि वे एक एनजीओ से हैं और स्वच्छता का सर्वे कर रहे हैं।
उन्हें कचरा वाहन का फोटो लेना है। इस तरह झूठ बोलकर उन्होंने वाहन का इस्तेमाल रील बनाने के लिए किया। रील बहुप्रसारित होने के बाद यह मामला निगम के अधिकारियों के संज्ञान में आया जिसके बाद मामला पुलिस थाने पहुंचा गया।
जोन 7 सीएसआइ संजय घावरी ने बताया कि घटना करीब 15 दिन पुरानी है। जोन का एक कचरा वाहन पीयू-4 के पास खड़ा था। वाहन का चालक नित्यकर्म के लिए गया हुआ था इस बीच रील बनाने वाला वीर शर्मा और पारूल अहिरवाल वहां पहुंचे और वाहन के हेल्पर से कहा कि वे एनजीओ से आए हैं और उन्हें वाहन के फोटो लेना हैं। दोनों वीडियो बनाने लगे तो हेल्पर ने उन्हें रोका। इस पर दोनों ने कहा कि उन्हें स्वच्छ सर्वेक्षण के वीडियो भी बनाना हैं। वीडियो बनाने के बाद दोनों वहां से चले गए। बाद में रील इंटरनेट मीडिया पर बहुप्रसारित हुई जिसके बाद घावरी ने मामले में विजय नगर पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई है।
दर्ज हो सकती है एफआइआर
आरोपितों ने शासकीय संपत्ति का दुरुपयोग किया है। उनके खिलाफ भादवि की धाराओं के तहत झूठी जानकारी देकर शासकीय संपत्ति के दुरुपयोग का प्रकरण दर्ज हो सकता है।
-दीपक रावल, पूर्व सोलिसिटर जनरल केंद्र सरकार