शिक्षक कर्तव्यों का निष्ठा पूर्वक उत्तरदायित्व का निर्वाह करे- राठौर

रुनीजा। शिक्षक अपने कर्तव्यों का निष्ठा पूर्वक उत्तरदायित्वों का निर्वहन करे तो हम अपने गौरव को पुन: प्राप्त कर सकते हैं । हमे बच्चों को केवल शैक्षिक ज्ञान ही प्रदान नहीं करना हैं वरन उनका सर्वांगीण विकास करना हैं । शिक्षा के साथ साथ बच्चे जीवन के हर क्षेत्र में प्रगति करे । राष्ट्र निर्माण में यही बच्चे किसी न किसी रूप में सकारात्मक योगदान करे । उक्त विचार सुंदराबाद में आयोजित सतत व व्यापक अधिगम एवम मूल्यांकन के एक दिवसीय संकुल स्तरीय प्रशिक्षण में संकुल प्राचार्य बृजराजसिंह राठौर ने व्यक्त किए । इस आयोजन में संकुल अंतर्गत सभी शिक्षक व कर्मचारियों ने सहभागिता की । सरस्वती वंदना के साथ कार्यक्रम का दीप प्रज्वलन कर प्रारंभ किया। अधोरचना , स्वच्छता एवम नवीन प्रवेश को लेकर प्राचार्य सत्यनारायण नायमा ने अनुभव परक जानकारी दी । समय प्रबंधन व छात्र उपस्थिति को लेकर रेशमिया व पंकज सोनी ने अपना प्रतिवेदन प्रस्तुत किया ।

You may have missed