नगर निगम में मंदिर तोड़ू गैंग, पार्षद को बगैर बताए तोड़ दिया शिव मंदिर

आह महापौर जी! जिम्मेदारों पर मामूली कार्रवाई, बीओ बीआई को हटा देंगे झोन से

इंदौर। सूर्यदेव नगर के बी-सेक्टर में गार्डन के अंदर बने एक शिवमंदिर को नगर निगम के अमले ने भारी पुलिस बल की मौजूदगी में तोड़ दिया। इसकी जानकारी लगते ही क्षेत्र में बवाल मच गया। आक्रोशित जनता ने निगम की जेसीबी के कांच फोड़ दिए। वहीं स्थानीय भाजपा पार्षद और एमआईसी सदस्य अभिषेक शर्मा कार्यकर्ताओं के साथ गार्डन में ही धरने पर बैठ गए। उन्होंने कहा, अधिकारियों ने न तो जनप्रतिनिधियों को सूचना दी और न ही जनता को विश्वास में लिया। जनसुनवाई में आई शिकायत के बाद मनमाने तरीके से कार्रवाई कर दी।
उन्होंने मांग की कि जिम्मेदार अधिकारियों को जब तक निलंबित नहीं किया जाता वे धरने पर बैठे रहेंगे। महापौर ने जानकारी मिलते ही रिमूवल अमले काे फटकारा और भवन अधिकारी व भवन निरीक्षक पर मामूली कार्रवाई करते हुए झोन से हटाने के निर्देश दिए। उधर, विहिप व बजरंग दल के कार्यकर्ता भी वार्ड 81 के इस गार्डन में पहुंचे। बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि भी मौके पर पहुंचे और मंदिर को दोबारा बनवाने की मांग की। रहवासियों ने क्षेत्र की दरगाह पर भी सवाल उठाए। इसके बाद पुलिस ने वहां फोर्स तैनात कर दिया है। कलेक्टर का कहना है कि जनसुनवाई में आवेदन आया था, जिसे निगम को भेजा गया था।

यह है मामला

मंदिर के गुंबद की छाया एक घर पर पड़ रही थी। यहां रहने वाली महिला ने परछाई से परेशानी बताते हुए जनसुनवाई में मंदिर की ही शिकायत कर दी। अधिकारियों से फोन भी लगवाया गया। कुछ देर बाद निगम का अमला पहुंचा और पूरा मंदिर तोड़ दिया।

पटेल नगर में सीएम को करनी पड़ी थी दोबारा निर्माण की घोषणा

पटेल नगर में बेलेश्वर महादेव मंदिर में अतिक्रमण हटाने के नाम पर मंदिर तोड़ा गया था। दोबारा मंदिर बनाने की मांग के बाद सीएम को इसकी सार्वजनिक घोषणा करना पड़ी थी।

You may have missed