​​​​​​​देश में हिंदू बहन-बेटियां सुरक्षित नहीं, एंटी लव जिहाद कानून बनाने की जरूरत

तोगड़िया बोले– द केरला स्टोरी मूवी नहीं, डॉक्यूमेंटेशन

इंदौर।  अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद के संस्थापक अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने एक बार फिर ‘द केरला स्टोरी’ और मुस्लिमों की जनसंख्या को लेकर बयान दिया है। तोगड़िया ने कहा- मुझे किसी पार्टी के बारे में कुछ नहीं कहना। देश में हिंदू बहन-बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। ‘द केरला स्टोरी’ केवल फिल्म नहीं, हिंदुओं की असुरक्षित बहन-बेटियों का डॉक्यूमेंटेशन है। इस फिल्म का जश्न मनाने की जगह हिंदू बहन-बेटियों को लव जिहाद का शिकार बनने से बचाने की जरूरत है। इसके लिए देश में एंटी लव जिहाद और मुस्लिम जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाना जरूरी है।

तोगड़िया ने यह बात सोमवार को इंदौर में कही। वे यहां माई मंगेशकर सभागृह में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन एवं त्रिशूल दीक्षांत समारोह को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान तोगड़िया ने युवाओं को देश और हिंदू रक्षा का संकल्प भी दिलाया।

बजरंग दल पर बैन की बात चुनावी शिगूफा

तोगड़िया ने कहा, हाल ही में कर्नाटक में बजरंग दल के खिलाफ बैन लगाने की जो बात उठी, वह केवल चुनावी शिगूफा है। कोई बैन नहीं लगाया जाएगा। यह सुझाव प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की तत्कालीन सरकार में भी आया था। उनकी सरकार ने इसे स्वीकार भी किया था।

मणिपुर में हिंदू शरणार्थी शिविरों में रहने को मजबूर

प्रवीण तोगड़िया बोले कि आज तक कश्मीर में हिंदुओं को मारकर, भगाकर शरणार्थी शिविरों में रहने को मजबूर किया गया। अब मणिपुर में भी ऐसा ही किया जा रहा है। हालात ऐसे बनाए जा रहे हैं कि हमारी बेटी नुपूर शर्मा आज भी बाहर नहीं निकल पा रही है।

You may have missed