अक्षय तृतीया पर जैन मिलन द्वारा किया गया इक्षु रस का दान

देवास। जैन धर्म के आदि प्रवर्तक प्रथम तीर्थंकर भगवान आदिनाथ स्वामी को एक वर्ष की कठिन तप साधना के बाद अक्षय तृतीया के दिन ही राजा श्रेयांस के द्वारा इक्षु रस का आहार दान दे कर वर्षी तप का पारणा कराया गया था ,इसीलिए इस दिन दान का विशेष महत्व है, विशेष रूप से इक्षु रस का इसी लिए अक्षय तृतीया के पावन अवसर पर जैन मिलन एवम महिला मिलन शाखा द्वारा पार्श्वनाथ दिगम्बर जैन मंदिर कवि कालिदास मार्ग पर गन्ने के रस का वितरण कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ पार्श्वनाथ दिगम्बर जैन मंदिर के अध्यक्ष इंदरमल पाणोत, दिगम्बर जैन सोशल ग्रुप के रीजन चौयरमैन विमल जैन,भारतीय जैन मिलन के राष्ट्रीय संयुक्त मंत्री अतिवीर डॉ प्रमोद जैन, ने किया। कार्यक्रम में उपस्थित समाज जनों के साथ साथ नागरिकों ने भी इक्षु रस का पान किया। अतिथियों का स्वागत शाखा अध्यक्ष वीर मुकेश जैन एवं वीरांगना चारु जैन ने किया।

You may have missed