April 19, 2024

पिछली बार बकाया न होने के बावजूद निगम टीम ने एमपीसीए के ऑफिस पर कर दी थी छापामारी

इंदौर। वर्ष 2017 के बाद अब यानी कल 24 जनवरी को वन-डे मैच होने जा रहा है। ये मैच इंडिया-न्यूजीलैंड के बीच खेला जाएगा। इंदौर में होने वाले वन-डे मैच को लेकर दर्शकों में काफी उत्साह है। अक्टूबर में इंदौर में हुए T-20 मैच के पहले नगर निगम की टैक्स वसूली के लिए छापामार कार्रवाई जैसे हालात इस बार न बनें, इसलिए एमपीसीए दूध का जला छाछ फूंक-फूंककर पी रहा है। एमपीसीए ने नगर निगम अफसरों को पहले ही पत्र लिखकर किसी अप्रिय घटना से बचने के लिए जानकारी मांगी है। गौरतलब है कि 4 अक्टबूर 2022 को इंदौर के होलकर स्टेडियम पर भारत-दक्षिण अफ्रिका के बीच टी-20 मैच खेला गया। इसके ठीक एक दिन पहले यानी 3 अक्टूबर को नगर निगम की टीम ने एमपीसीए के दफ्तर में छापामार कार्रवाई की थी। दरअसल निगम का कहना था कि एमपीसीए ने नियमानुसार नगर निगम का टैक्स जमा नहीं किया है। ये कार्रवाई बकाया टैक्स वसूली के लिए ही की गई थी। इसके बाद एमपीसीए अध्यक्ष अभिलाष खांडेकर ने घटना को निंदनीय बताया था।
एमपीसीए अध्यक्ष खांडेकर का कहना है कि इंदौर की एक मान-मर्यादा है, इंदौर की प्रतिष्ठा का सवाल है, इसलिए हमने पत्र पहले ही लिख दिया है। हम किसी से झगड़ा नहीं करना चाहते हैं, लेकिन हम ये भी नहीं चाहते कि कोई भी व्यक्ति मध्यप्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन जैसी बड़ी संस्था के साथ अन्यायपूर्ण या भेदभाव पूर्ण बर्ताव करें। एमपीसीए ने मैच होने से पहले ही नगर निगम को एक पत्र लिखा है। 3 अक्टूबर को नगर निगम ने हमारे दफ्तर में छापा मारा था। इस कार्रवाई से नगर निगम ने ये बताने की कोशिश की थी कि हमने कोई टैक्स जमा नहीं किया है। कार्रवाई के बाद नगर निगम ने हमें टैक्स जमा करने के लिए 31 दिसम्बर तक का समय दिया था। हालांकि एमपीसीए पर कोई भी टैक्स बकाया नहीं था। इसलिए एमपीसीए सचिव ने इस बार पहले ही नगर निगम को पत्र लिखा है। हमने पूछा है कि कोई टैक्स बकाया हो तो हमें पहले ही बता दें। ताकि किसी भी अप्रिय घटना को टाला जा सके।