April 16, 2024

उज्जैन। चाइना डोर प्रतिबंध के साथ धारा 144 लागू है 14 दिन में 9 लोग गंभीर घायल हो गए। मकर संक्रांति के बाद 2 दिन बाद भी हादसा होना सामने आया है। पुलिस 4 प्रकरण दर्ज कर चुकी है लेकिन अब तक प्रतिबंध लगी डोर से पतंग उड़ाने वालों का सुराग नहीं मिल पाया है।
कलेक्टर आशीष सिंह ने जनवरी 2022 में चाइना डोर से छात्रा का गला कटने पर हुई मौत के बाद इस बार मकर संक्रांति से पहले 1 दिसंबर को ही जानलेवा डोर पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाते हुए धारा 144 लागू कर दी थी। बावजूद लोगों ने चाइना डोर से पतंगबाजी शुरू कर दी थी, और हादसे होना सामने आने लगे थे, 8 लोगों के गले, नाक, होंठ कट चुके थे। अब संक्रांति को 2 दिन बीत चुके है, फिर भी पतंग उड़ रही है, मंगलवार शाम फ्रीगंज से जीरो पाइंट ब्रिज होता हुआ आगर नाका स्थित घर लौट रहे युवक मयंक पिता गेंदालाल खरे का हीरामिल चाल मार्ग पर चायना डोर से गाल और होठ कट गया। घायल के जिला अस्पताल पहुंचने पर देवासगेट पुलिस ने अज्ञात पतंगबाज के खिलाफ धारा 188, 337 में प्रकरण दर्ज कर जांच में लिया है। विदित हो कि 4 जनवरी से 17 जनवरी तक शहर में 9 हादसे होना सामने आ चुके हैं। सबसे पहले 6 वर्षीय मासूम छात्रा का गला कटा था। मिल्कीपुरा क्षेत्र में हुई घटना के बाद पुलिस ने सख्त रुख अपनाया था और पतंग उड़ाने वालों की छतों पर पहुंचकर धरपकड़ शुरू की थी। सख्ती के बाद भी 5 जनवरी को हरिफाटक ब्रिज पर स्क्रैप व्यवसाई का गला कट गया। 8 जनवरी को वीआईपी ड्यूटी में जा रहे होमगार्ड सैनिक का गला कटना सामने आया था। 9 जनवरी को दोपहर में भाजपा नेता की नाक चाइना डोर से कर गई थी। शाम को सेठीनगर में हेयर सेलून संचालक का गला कटा था। एक दिन बाद आगर रोड पर बाइक सवार चाइना की चपेट में आ गया जिसके चलते उसके पैर की एड़ी कटी थी। मकर संक्रांति पर तराना से गमी के कार्यक्रम में शामिल होने पत्नी के साथ आ रहे युवक का गला मक्सी रोड पर कट था। अगले दिन चिंतामन ब्रिज पर पुजारी की उंगलियां कटना सामने आया था। 14 दिन में हुई 9 घटनाओं के मामले में माधव नगर, पवासा, नीलगंगा और देवास गेट थाना पुलिस पतंग उड़ाने वालों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर चुकी है, लेकिन अब तक एक भी पतंगबाज का सुराग नहीं मिल पाया है। पिछले वर्ष छात्रा की चाइना डोर से गला कटने पर हुई मौत के मामले में भी पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया था। सालभर गुजर जाने के बाद भी छात्रा की मौत के गुनाहगार का पता नहीं चल पाया है। पुलिस ने उक्त मामले में खातमे की तैयारी भी कर ली है।