April 16, 2024

उज्जैना। कृषि उपज मंडी में व्यापारी और किसान के बीच विवाद का मामला दूसरे दिन बुधवार को भी गरमाता रहा। व्यापारियों ने काम बंद कर दिया था, वहीं किसानों ने मंडी गेट के बाहर चक्काजाम किया। इस बीच फसल लेकर आए किसान परेशान होते रहे उन्होंने भी मंडी कार्यालय के सामने नारेबाजी की।
विदित हो कि मंगलवार शाम ग्राम जवासिया का किसान महेन्द्रसिंह सोलंकी सोयाबीन की उपज लेकर मंडी आया था। जहां उसकी उपज का सौदा आरबी इंडस्ट्रीज के अभिषेक जैन द्वारा किया गया। कुछ देर बाद सौदा रद्द कर दिया। जिसको लेकर किसान और व्यापारी के बीच मारपीट हो गई। मंडी बंद होने के बाद चिमनगंज पुलिस ने व्यापारी की शिकायत पर किसान और उसके साथियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। इस बात की जानकारी भारतीय किसान संगठन को लगी तो उन्होंने किसान के समर्थन में बुधवार दोपहर को मंडी गेट के बाहर आगररोड पर चक्काजाम कर दिया। व्यापारियों ने भी काम बंद कर गणेश मंदिर के बाहर धरना दे दिया। दोनों पक्षों की ओर से अपनी-अपनी बात रखी जाने लगी। चक्काजाम से यातायात प्रभावित हो गया और अफरा-तफरी की स्थिति निर्मित हो गई। चिमनगंज पुलिस दोनों पक्षों को समझाने का प्रयास कर रही थी। किसान संगठन का कहना था कि व्यापारी के खिलाफ मारपीट का प्रकरण दर्ज हो। मंडी में हर बार किसानों के साथ ऐसा होता है। फसल अच्छी होने के बाद भी खराब बताई जाती है और भुगतान कम किया जाता है। व्यापारियों को कहना था कि ट्राली में ऊपर फसल अच्छी होती है, नीचे मिट्टी के साथ खराब होना सामने आती है। पुलिस की समझाईश नाकाम होने पर एसडीएम राकेश शर्मा मौके पर पहुंचे और दोनों पक्षों में सामंजस्य बनाने का प्रयास किया। किसानों की मांग पर पुलिस ने किसान महेन्द्रसिंह की शिकायत पर व्यापारी अभिषेक जैन और अन्य के खिलाफ मारपीट का प्रकरण दर्ज कर लिया। व्यापारियों की मांग थी उनकी सुरक्षा कौन करेगा। उस पर भी एसडीएम द्वारा उचित निर्णय का आश्वासन दिया गया।