April 19, 2024

ब्रह्मास्त्र काबुल

अफगानिस्तान में तालिबान के सत्ता में वापस आते ही देश में आतंक का वर्चस्व फिर से कायम हो गया है। इस्लामिक देश में शरिया कानून के तहत डकैती और समलैंगिक संबंध के नौ दोषियों को कंधार के अहमद शाही स्टेडियम में सार्वजनिक रूप से कोड़े मारे गए। देश की न्यूज एजेंसी टोलो न्यूज के अनुसार, प्रांतीय गवर्नर के प्रवक्ता हाजी जैद ने कहा कि दोषियों को करीब 35 से 39 बार कोड़े मारे गए थे, इस दौरान अधिकारी और स्थानीय निवासी मौजूद थे। न्यूज एजेंसी ने सुप्रीम कोर्ट के हवाले से बताया कि मंगलवार को कंधार के अहमद शाही स्टेडियम में डकैती और समलैंगिकता के आरोप में नौ लोगों को सजा दी गई।
ब्रिटेन में अफगान पुनर्वास मंत्री के पूर्व नीति सलाहकार, शबनम नसीमी ने ट्वीट कर बताया कि तालिबान ने कथित तौर पर आज कंधार के एक फुटबॉल स्टेडियम में लोगों के सामने चोरी के आरोपी 4 लोगों के हाथ काट दिए हैं। निष्पक्ष जांच और उचित प्रक्रिया के बिना अफगानिस्तान में लोगों को पीटा जा रहा है, काट दिया जा रहा है और मार डाला जा रहा है। यह मानवाधिकारों का उल्लंघन है। वहीं संयुक्त राष्ट्र के विशेषज्ञों ने सजा के एक रूप के रूप में कोड़े मारने की निंदा की है और तालिबान से सभी प्रकार के कठोर दंडों को तुरंत रोकने का आह्वान किया है। आपको बता दें कि पिछले साल दिसंबर में, तालिबान ने ऐसे ही आरोपों में सार्वजनिक रूप से एक व्यक्ति को मार डाला था।
अफगानिस्तान में तालिबान ने लड़कियों और महिलाओं की यूनिवर्सिटी शिक्षा पर रोक लगा दी है। तालिबान के उच्च शिक्षा मंत्रालय ने मंगलवार को अफगानिस्तान में महिलाओं के लिए विश्वविद्यालय शिक्षा पर अनिश्चितकालीन प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया।