April 16, 2024

इंदौर पुलिस कर रही गहरी छानबीन, हिंदू नाम वेदप्रकाश रखने और फर्जी दस्तावेज बनवाने के पीछे क्या है असल मकसद ?

इंदौर। उत्तरप्रदेश से आकर इंदौर में नाम बदलकर रह रहे एक युवक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पकड़े गए युवक का नाम मोहम्मद सादिक है। वह यहां वेदप्रकाश बनकर रह रहा था। शादी के एक कार्ड ने इसकी पूरी सच्चाई सामने ला दी। अब पुलिस उसे लेकर उत्तर प्रदेश जाकर पूछताछ करेगी। मामले में गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी जानकारी मांगी है।
इंदौर की लसूड़िया पुलिस ने सुप्रीम ट्रांसपोर्ट साल्यूशन लिमिटेड कंपनी में काम करने वाले एक कर्मचारी के खिलाफ केस दर्ज किया है। इसके खुफिया जांच एजेंसी ने भी जानकारी जुटाई है। पुलिस ने व्यापारिक लाभ के लिये धोखाधड़ी की साजिश रचने की बात कही है। जबकि, दूसरी जांच एजेंसी को शंका है कि मामला कुछ और है। पुलिस ने भी जांच एजेंसी के इनपुट पर काम करना शुरू कर दिया है। आरोपी सादिक स्कीम नंबर 78 में नाम बदलकर रह रहा था।

ये दस्तावेज मिले

मोहम्मद सादिक के पास से वेद प्रकाश के नाम का पैन कार्ड, डेबिट कार्ड, राशन कार्ड और आधार कार्ड मिला है। उसने पूछताछ में कबूला है कि इंदौर में ही रहते हुए उसने यह सारे डाक्यूमेंट तैयार किये थे। इसके साथ ही उसने जो रेंट एग्रीमेंट बनवाया था। उसमें भी अपना नाम वेद प्रकाश ही बताया है।

खुफिया एजेंसी अलर्ट, गृह विभाग ने जुटाई जानकारी

स्थानीयकृत पुलिस ने अभी नाम बदलकर धोखाधड़ी करने की बात ही बताई है। लेकिन इंदौर और भोपाल की जांच एजेंसी मोहम्मद सादिक पठान को लेकर जांच कर रही है। जानकारी के मुताबिक वह किसी संगठन या अन्य किसी कारण के चलते तो इंदौर में रहकर जानकारी तो नहीं जुटा रहा था। मामले में गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी जानकारी मांगी है।

शादी के कार्ड से हुआ खुलासा, बच्चों के नाम भी हिंदू

वेदप्रकाश को उत्तरप्रदेश के गांव में वेदू कहकर बुलाते थे। उसने इंदौर में वेदप्रकाश नाम रख लिया। उसके यहां से आए शादी के कार्ड से वह पकड़ा गया। कार्ड में बच्चों के नाम कूकू, अभि, यश और वंश वह भी हिंदू जैसे हैं। वहीं परिवार के कई सदस्यों के नाम भी हिंदू नामों से मिलते-जुलते हैं।