April 19, 2024

 

थर्टी फर्स्ट पर पुलिस की भारी चेकिंग के बीच चुरा ली 4 बाइक

इंदौर। पिता के गैरेज पर नाबालिग बेटे ने गाड़ी का लॉक खोलना और उसे रिपेयर करना सीखना। पिता को लगा कि बेटा काम में हाथ बंटा रहा है और आगे जाकर गैरेज संभालेगा। लेकिन नाबालिग बेटे ने अपने चार दोस्तों को साथ लेकर वाहन चोर गैंग बना ली। आरोपी ने पुलिस की भारी भरकम चैकिंग को चुनौती देते हुए 31 दिसंबर 2022 की रात चार बाइक चुरा ली। जिसे वह बेचने की तैयारी में था, लेकिन उसके पहले ही पूरी गैंग के साथ पकड़ा गया।
भंवरकुआं टीआई शशिकांत चौरसिया की टीम ने मनोज पुत्र हरिनारायण निवासी जय नगर पीथमपुर, करण पुत्र संतोष निवासी किशनगंज और विकास उर्फ निरंजन उर्फ अंग्रेज पुत्र अरूण तिवारी पीथमपुर और चंदन नगर व हरदा में रहने वाले दो नाबालिगों को पकड़ा है। आरोपियों के पास से लूटे गए 10 मोबाइल और 13 बाइक भी बरामद की गई है। जिसे गैंग ने शहर के कई थानों से चुराने की बात कबूल की है। नाबालिग ने कबूल किया कि वह अपने दोस्तों के साथ मिलकर बाइक के पार्टस अलग कर उसे कबाड़ के बेच देता था। आरोपियों ने इंदौर के छह से ज्यादा थानों में वारदात की है। यह गैंग पहली बार पुलिस के हत्थे चढ़ी है।

पिता के गैरेज से सीखा लॉक खोलना

चंदन नगर में रहने वाले नाबालिग के पिता का पीथमपुर में गैरेज है। यही से उसने बाइक के लॉक खोलना और उन्हें रिपेयर करना सीखा था। यहीं एक अन्य गैरेज के संचालक मनोज से उसकी पहचान हुई। मनोज पहले भी चोरी के मामलों में पकड़ा जा चुका है। उसने अपने ऐसे दोस्तों के नाम बताए जो चोरी के कबाड़ को ठिकाने लगाते हैं। इसके बाद नाबालिग ने मनोज और अन्य युवकों के साथ मिलकर गैंग बना ली और वारदात करने लगा।