April 19, 2024

उज्जैन। क्राइम ब्रांच ने विक्रम विश्वविद्यालय की फर्जी मार्कशीट तैयार करने वाले शातिर युवक को हिरासत में लिया है। उसके पास से 26 मार्कशीट बरामद की गई है। चिमनगंज पुलिस ने 4 दिनों की रिमांड पर लिया है। संभावना है कि युवक से जुड़े कुछ ओर लोगों की जानकारी मिल सकती है।
चिमनगंज थाना एसआई करण खोवाल ने बताया कि क्राइम ब्रांच को मिली सूचना के बाद संजयनगर में एक मकान पर दबिश दी गई थी। जहां विक्रम विश्वविद्यालय की फर्जी मार्कशीट बनाने वाले शातिर युवक को हिरासत में लेकर लेपटॉप, कलर प्रिंटर, 26 मार्कशीट बरामद की गई। थाने लाकर पूछताछ करने पर शातिर युवक का नाम दीपक पिता कृष्णसिंह शाक्य होना सामने आया। जिसके खिलाफ धोखाधड़ी की धारा में प्रकरण दर्ज किया गया। प्रारंभिक जांच में सामने आया कि उसके लेपटॉप में 50 से अधिक मार्कशीट का डाटा ओर है। मंगलवार को उसे न्यायालय में पेश किया गया, जहां से 4 दिनों की रिमांड पर लिया गया है। शातिर युवक मार्कशीट में हेराफेरी करने के साथ ग्रेज्युशन की डिग्री तक एडिट कर देता था। वह पिछले एक साल से मार्कशीट में हेराफेरी करना कबूल कर रहा है, लेकिन उसके पास 2012 से 2020 तक की मार्कशीट मिली है। संभावना है कि पूछताछ में शातिर युवक से कई ओर सुराग मिल सकते हैं।