पेट में लगी गहरी चोंट से हुई थी वृद्धा की मौत

उज्जैन। 10 दिनों से भर्ती घायल वृद्धा की मौत होने पर धक्का देने वाले तीन युवको के खिलाफ बुधवार शाम हत्या का प्रकरण दर्ज कर लिया गया। पुलिस ने तीनों को हिरासत में ले लिया हैं। जिन्हे आज न्यायालय में पेश किया जा सकता है। महावीर नगर में रहने वाली गीताबाई पति रमेश भामी 62 वर्ष को 14 अगस्त की शाम पुत्र गोलू के तीन दोस्तों नवीन, रोहित और नीरज ने धक्का देकर गिरा दिया था। गीताबाई को गंभीर चोंट होने पर उपचार के लिये परिजनों ने निजी अस्पताल में भर्ती कराया था। जहां 10 दिन चले उपचार के बाद बुधवार को मौत हो गई। जीवाजीगंज पुलिस ने मर्ग कायम कर डॉक्टरों की पैनल से पोस्टमार्टम कराया। इस दौरान सामने आया कि धक्का देने पर गिरने से जांघ की हड्डी टूटी थी और पेट की बड़ी आंत फट गई थी जिसमें पानी जमा होने से मौत हुई है। टीआई गगन बादल ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आने पर मामले में हत्या का प्रकरण दर्ज किया गया है। मृतक वृद्धा एससीएसटी वर्ग की होने पर धारा बढ़ाकर जांच सीएसपी स्तर से कराई जाएगी।

You may have missed