सुबह एक घंटा अंकुरित अन्नदाना नि:शुल्क मिलेगा

शुजालपुर। अन्न ब्रह्म है, अत: अन्न सेवा परमात्मा की सेवा है। यह हमारी संस्कृति है, यही धर्म है। उपरोक्त उद्गार वरिष्ठ चिकित्सक समाजसेवी एसएन गुप्ता ने नगर की समाजसेवी संस्था अनन्त सेवा पारमार्थिक न्यास शुजालपुर द्वारा सेवा के नवीन प्रकल्प के शुभारंभ अवसर पर व्यक्त किए। आजादी के 75वें स्वाधीनता दिवस के अमृत महोत्सव के पावन अवसर पर साधारण रूप में सम्पादित आयोजन के प्रारम्भ में सभी उपस्थितों ने भारत माँ की तस्वीर पर पुष्प अर्पण कर नवीन प्रकल्प के शुभारंभ का श्री गणेश किया। अपने सम्बोधन में डॉ. गुप्ता ने अंकुरित अन्नदानों की वितरण व्यवस्था के प्रकल्प को जनहित में सराहनीय सेवा बताते हुए, मुक्त कंठ से प्रशंसा की।
नवीन प्रकल्प के सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी देते हुए न्यास अध्यक्ष प्रहलादसिंह परमार ने बताया कि अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक, व्यायाम, खेल प्रेमियों के लिए प्रतिदिन प्रात: 6.30 से 7.30 तक उत्कृष्ट विद्यालय के समीप अंकुरित अन्न दानों का नि:शुल्क वितरण सेवा के रूप मे किया जायेगा। न्यास के पूर्व अध्यक्ष राधिकेश मेहता ने जन सहयोग से संचालित न्यास की 21 वर्ष पूर्व से अब तक की सेवाओं पर प्रकाश डालते हुऐ सभी सहयोगकर्ताओं व सेवाएं देने वालों का साधुवाद माना। कार्यक्रम का कुशल संयोजन आलोक खन्ना एवं पवन गुप्ता ने किया। आपने बताया की आज प्रथम दिवस लगभग 170 लोगों ने इस सेवा प्रकल्प का लाभ लिया। इस अवसर पर डॉ. बीएल गुप्ता, जितेन्द्र गुरेनिया, कय्यूम खान, लोकेन्द्रसिंह परमार, रमेश परमार, राजेन्द्र नायडू, अरूण कयाल, आलोक उपाध्याय, अश्विनी चौधरी, सुरेश मालवीय, सोनू जाट, योगेन्द्र सिसोदिया, विनोद विश्वकर्मा, जतिन परमार, सुन्दरलाल विश्वकर्मा सहित बड़ी संख्या में नगर के गणमान्य व सेवाभावियों की उपस्थिति रही। संचालन कोषाध्यक्ष आशुतोष सक्सेना व आभार सचिव नरेन्द्र जैन ने माना।

You may have missed