April 20, 2024

उज्जैन। झोपड़ी में रहने वाला युवक शराबखोरी में जमकर पैसे उड़ा रहा था, शंका में पुलिस ने पकड़ा तो गुरुवार-शुक्रवार रात मौसी के घर चोरी करना कबूल कर लिया। पिता भी पुत्र की करतूत में शामिल था, पुलिस ने उसे भी हिरासत में लिया है। एकतानगर में 30 जून और 1 जुलाई की रात साड़ी और सिलाई का काम करने वाली मंजू केवट के मकान में 7 साल लाख की चोरी हो गई थी। नीलगंगा पुलिस ने मामला दर्ज कर 24 घंटे में चोरी का माल बरामद कर लिया। वारदात मंजू की बहन के बेटे दीपक रायकवार द्वारा की गई थी, जो घर से कुछ दूरी पर ही झोपड़ीनुमा घर में पिता प्रभुलाल के साथ रहता है। पिता भी उसकी करतूत में शामिल था। जिसके चलते पुलिस ने उसे भी हिरासत में लिया और पिता-पुत्र की निशानदेही पर 3.50 लाख के आभूषण और 1.80 हजार रुपये नगद के साथ 50 हजार रुपयों से भरा गुल्लक पलंग पेटी से बरामद कर लिया। टीआई तरुण कुरील ने बताया कि दोनों से माल बरामद होने के बाद गिरफ्तार किया गया है। रविवार को न्यायालय में पेश कर जेल भेजा जाएगा। पिता-पुत्र शराब के आदी है। दीपक अपनी मौसी मंजू के घर आता जाता था, उसे घर की पूरी जानकारी थी।