April 16, 2024

बेटे का कहना – पापा कहते थे मुझे लेडी एएसआई ने फंसाया

इंदौर। टीआई सुसाइड केस का हनी ट्रैप कनेक्शन सामने आ रहा है। टीआई हाकम सिंह पवार के बेटे मुकेश ने चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। उज्जैन निवासी मुकेश के अनुसार टीआई हाकम सिंह पवार ने परिवार को बताया था कि उन्हें हनीट्रैप में फंसाया गया है। गौरतलब है कि पिछले हफ्ते इंदौर पुलिस कंट्रोल रूम में खुद को गोली मारकर सुसाइड कर लिया था। इससे पहले लेडी एएसआई रंजना खाण्डे को गोली मारी थी। हाकम सिंह भोपाल के श्यामला हिल्स थाने में पदस्थ थे।
पापा से 21 जून को मेरी बात हुई थी। उन्होंने कहा था, मैं इंदौर जा रहा हूं। इंदौर से उज्जैन जाऊंगा। मैंने तीन दिन की छुट्टी ली है। मैं उज्जैन से फिर भोपाल निकल जाऊंगा। इसके बाद पापा का फोन कट गया। मैंने 22 जून को फिर फोन लगाया। मैंने पूछ आप कहां हो, तो बोले इंदौर में हूं। बोले- अपने को पैसे लेना है, कपड़ा व्यापारी गोविंद जायसवाल से। बोले गोविंद जायसवाल पैसे नहीं दे रहा है।
मैंने पापा से कहा कि चेक ले लो। पापा बोले- नहीं मैं उससे जाकर बात करता हूं। किसी को रुपए देना है। बोले कि रंजना नाम की एएसआई है। बहुत परेशान कर रही है। मैंने पूछा क्यों? तो बोले किसी केस की जांच को लेकर परेशान कर रही है।
अंतिम संस्कार के लिए इंदौर पहुंचे उनके भाई रामगोपाल और उनके गोद लिए बेटे मुकेश ने इस पूरे मामले में कई अहम जानकारियां भी दीं। मुकेश ने बताया कि 21 तारीख को जब हाकम सिंह भोपाल से इंदौर के लिए निकल रहे थे, तब मैंने 5 मिनिट तक बात की । फोन पर उन्होंने मुझे कहा था कि तुम इंदौर आ जाना मुझे लेने।

आवेदन में लिखा मेरे साथ हुआ हनी ट्रैप

मुकेश ने बताया कि मां लीलावती ने इंदौर के एक थाने में लेडी एएसआई रंजना, उसके भाई कमलेश और व्यापारी गोविंद जायसवाल के खिलाफ शिकायत की थी। तीनों पर रुपए के लिए ब्लैकमेल करने और आत्महत्या के लिए उकसाने की भी बात कही थी। इस आवेदन में लिखा है कि हाकम सिंह द्वारा कई बार परिवार वालों से कहा गया की मेरे साथ हनी ट्रैप हुआ है। मैंने पूछ कि हनी ट्रैप क्या होता है, तो उन्होंने कहा था कि तू नहीं जानता कई लोगों ने मेरे खिलाफ झूठी शिकायत कर रखी है।