भाजपा मंडल अध्यक्ष की मौत से बौखलाए कार्यकर्ताओं ने की तोड़फोड़

उज्जैन। माधव नगर अस्पताल में बुधवार  देर रात ऑक्सीजन की कमी के चलते 5 मरीजों ने दम तोड़ दिया वहीं इस पूरे मामले में अस्पताल के प्रभारी सुजान सिंह रावत ने कहा है कि जिन मरीजों की मौतें हुई हैं वह सभी लंगस में इंफेक्शन की वजह से मारे गए हैं ना कि आक्सीजन की कमी की वजह से लेकिन मरीजों के परिजन आरोप लगा रहे हैं कि मरीज ने उन्हें रात को ही बता दिया था कि अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी है और उन्हें परेशानी हो रही है फिर भी अस्पताल प्रबंधन द्वारा कोई इंतजाम नहीं किया गया। भाजपा के एक मंडल अध्यक्ष की भी ऑक्सीजन की कमी से मौत हो गई। मंडल अध्यक्ष जीतेंद्र शेरे की मौत से गुस्साए भाजपा कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को माधवनगर अस्पताल में तोड़फोड़ की। उन्हें रोकने के लिए पुलिस अधिकारी आए तो उनके साथ भी धक्का-मुक्की की गई और फिर अस्पताल के प्रभारी और विकास प्राधिकरण के सीईओ सुजान सिंह रावत को कार्यकर्ता मारने पहुंचे, जहां सुजान सिंह रावत ने अपने आप को एक कमरे में बंद कर लिया। जिसके बाद कार्यकर्ताओं ने बंद दरवाजे पर जमकर लात मारकर दरवाजा तोड़कर अधिकारी के साथ मारपीट करने की कोशिश की।
** ऑक्सीजन की कमी से मौत परिजनों का आरोप
*** माधव नगर अस्पताल में 123 मरीज भर्ती हैं इनमें से 60 फ़ीसदी मरीजों को ऑक्सीजन दी जा रही है। बुधवार को आपूर्ति नहीं होने से रात करीब 12:00 बजे ऑक्सीजन की कमी होने लगी केवल आधे घंटे तक मरीजों को दी जा सकने वाली ऑक्सीजन बची थी। इसी बीच भाजपा के मंडल अध्यक्ष जीतेंद्र शेरे ने अपने व्हाट्सएप ग्रुप पर मैसेज डाला कि माधव नगर अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म, मरीजों की जान खतरे में। यह स्टेटस देर रात 11:30 बजे डाला गया। इसके बाद अस्पताल के फेल सिस्टम ने एक के बाद एक 5 मरीजों की जान ले ली। जितेंद्र की पत्नी ने यह आरोप लगाया कि कल तक सब ठीक था रात को बात भी हुई उन्होंने ही बताया कि आक्सीजन खत्म हो रही है और जान खतरे में हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *