April 15, 2024

उज्जैन। फेसबुक पर वीडियो अपलोड करने के एवज में प्रतिमाह 15 हजार वेतन देकर युवक के खातों से करोड़ों का ट्रांजेक्शन करने के मामले में पुलिस ने कडिय़ां जोडऩा शुरु कर दिया है। माधवनगर पुलिस ने मामला दर्ज करने के बाद 2 को हिरासत में लिया है। मुख्य जालसाज की तलाश जारी है। तेड़ीवाड़ा स्थित चाय की दुकान में 6 हजार रुपये माह की नौकरी करने वाले राहुल मालवीय को कुछ माह पूर्व रायपुर का रहने वाला सत्यप्रकाश मिला था। जिसने इंदौर में रहने वाले सौरभ यादव उर्फ संदीप गुप्ता से मिलवाया। सौरभ ने फेसबुक पर फनी वीडियो अपलोड़ करने के एवज में 15 हजार प्रतिमाह देने की बात कही। राहुल को 10 दिनों तक वीडियो अपलोड करने की ट्रेनिंग दी, उसके बाद चार बैंक में खाते खुलवाए, जिसमें कम्पनी और बोस का पैसा आने की बात कहीं। तीन माह में करोड़ों का ट्रांजेक्शन होने पर राहुल को बैंक ने जानकारी दी। जिसके बाद मामला सामने आने पर राहुल की शिकायत पर शुक्रवार रात माधवनगर पुलिस ने 6 धाराओं में मामला दर्ज कर सौरभ, भोला, मांगीलाल और सत्यप्रकाश के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया। पुलिस नेे कारोड़ों के ट्रांजेक्शन की कडिय़ां जोड़ते हुए भोला और मांगीलाल को हिरासत में लिया है। दोनों से पूछताछ की जा रही है। वहीं सौरभ का सुराग तलाश जा रहा है।