April 24, 2024

-आसंदी के सामने नारेबाजी
-विपक्ष के शोरशराबे में दबी वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा की आवाज

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा में विपक्ष के जोरदार हंगामे के बीच वित्तमंत्री जगदीश देवड़ा 2022-23 का बजट पढ़ रहे हैं। देवड़ा दूसरी बार बजट पेश कर रहे हैं। पूर्व मंत्री सज्जन वर्मा उनकी बजट स्पीच के बीच लगातार बोल रहे हैं। कांग्रेस का कहना है कि एक साल में साढ़े पांच लाख बेरोजगार हो गए। कैसा बजट है ये। बिजली के बिल पर जेल में डालने का काम कर रहे हैं। किसान परेशान हैं।
इसके पूर्व बुधवार सुबह 11 बजे बजट भाषण शुरू होने से पहले विपक्ष ने जोरदार हंगामा शुरू कर दिया। विपक्ष के विधायक आसंदी के सामने जाकर नारेबाजी करने लगे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि बजट भाषण प्रदेश की पूरी जनता सुनना चाहती है।
गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा- विपक्ष सार्थक चर्चा करे। सदन हंगामे या बाहुबल के लिए नहीं, बुद्धि बल के लिए है। स्टेट की जीडीपी 19.74% पहुंचने पर है। मध्यप्रदेश में सकल घरेलू उत्पाद 11 लाख 79 हजार 4 करोड़ हो गया है। बजट में सभी क्षेत्र का ध्यान रखा है। इनफ्रॉस्ट्रक्चर पर मध्यप्रदेश 50% बजट खर्च करेगा। मैं मानता हूं कि सरकार आमजन पर कोई नया टैक्स नहीं लगाएगी। इसके पहले सुबह 10 बजे विधानसभा में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में मंत्रियों की बैठक हुई। इसमें वित्तमंत्री के बजट भाषण को मंजूरी दी गई।
घर से पूजा-पाठ करके विधानसभा के लिए निकले वित्त मंत्री-
वित्तमंत्री ने विधानसभा में बजट पेश करने से पहले अपने आवास पर पूजा की। उन्होंने कहा- जनता की उम्मीदों के अनुरूप ही इस बार का बजट होने वाला है। सुबह घर से विधानसभा की ओर निकलने से पहले उन्होंने कहा- मध्य प्रदेश सरकार का यह बजट जनहित का बजट होगा। जो आपको उम्मीद है, इस बजट में वो सबकुछ होगा।
कांग्रेस ने विधानसभा घेराव की रणनीति बनाई
कांग्रेस ने बिजली के बढ़े बिलों को लेकर विधानसभा घेराव की रणनीति बनाई है। प्रदेश कांग्रेस झुग्गी झोपड़ी प्रकोष्ठ के नेतृत्व में विधानसभा घेराव होगा। रंगमहल चौराहा न्यू मार्केट होते हुए कांग्रेसी विधानसभा का घेराव करने पहुंचेंगे। इसके चलते विधानसभा के चारों ओर पुलिस ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम कर रखे हैं। चारों ओर से बैरिकेडिंग की गई है।