April 16, 2024

उज्जैन। 32वीं बटालियन के पास पुलिस वेलफेयर फिलिंग स्टेशन पर शनिवार सुबह निगम कर्मचारी के साथ हुई मारपीट के मामले ने तूल पकड़ लिया। निगम के दर्जनों वाहन चालकों ने पुलिस कर्मियों द्वारा की मारपीट के मामले में एफआईआर दर्ज करने की मांग की। देवासरोड पर पुलिस वेलफेयर फिलिंग स्टेशन पर सुबह नगर निगम का कर्मचारी पंकजसिंह चौहान डीजल भरवाने आया था। डंपर साइड में लगाने की बात पर उसका विवाद तैनात पुलिसकर्मी मुकेश यादव से हो गया। दोनों के बीच शुुरु हुई बहस मारपीट में तब्दील हो गई। निगम के वाहन चालकों को घटना का पता चला तो निगम वाहन शाखा प्रभारी उमेश बैस के साथ दर्जनों वाहन चालक पहुंच गये। निगम कर्मचारियों ने पुलिसकर्मियों द्वारा की गई मारपीट का विरोध करते हुए नारेबाजी शुरु कर दी और कार्रवाई की मांग करने लगे। पंकज ने आरोप लगाया कि मुकेश के साथ कम्पनी कमांडर राधेश्याम यादव और 2-3 अन्य मारपीट करने में शामिल थे। निगम कर्मचारियों के आक्रोश के बीच मार्ग पर यातायात प्रभावित होने लगा। सूचना मिलते ही डीएसपी एचएन बाथम, माधव नगर थाना प्रभारी मनीष लोधा बल के साथ मौके पर पहुंचे और स्थिति को नियंत्रित किया।