April 16, 2024

उज्जैन। बसों में टाइमिंग का फेरा और रफ्तार यात्रियों की मुसीबत बनती जा रही है। बुधवार को इस फेरे में बडऩगर मार्ग मुल्लापुरा में 2 बसों के बीच भिड़ंत हो गई। हादसा इतनी तेज गति से हुआ कि दोनों बसों का अगला हिस्सा एक दूसरे में फंस गया था। जिसे क्रेन की मदद से अलग करना पड़ा। दुर्घटना में एक की मौत हुई है और 32 घायल है। शाम 4 बजे के लगभग मुल्लापुरा में आमने-सामने भाटी और गुर्जर ट्रेवल्स की बस में भिड़ंत हो गई। दोनों बसों में 50-50 से अधिक यात्री सवार थे। बसों की रफ्तार इतनी तेज थी कि दोनों का अगला हिस्सा एक दूसरे से चिपक गया। दुर्घटना होते ही यात्रियों में हाहाकार मच गया। घायल दर्द से कराह ने लगे। सूचना मिलते ही महाकाल थाना पुलिस मौके पर पहुंची। दोनों बसों में सवार घायलों को जिला अस्पताल पहुंचाया गया। भाटी बस के ड्रायवर सुभाष पिता रामचंद्र सेन (परमार) 48 वर्ष की मौत हो चुकी थी। गुर्जर बस का चालक विरेन्द्र पिता भारतसिंह 40 वर्ष निवासी देहपुर मंदसौर बुरी तरह से फंसा हुआ था। उसे निकालने के लिये बसों को क्रेन से अलग किया गया। अस्पताल में उसकी हालत गंभीर बनी हुई थी। अविनाश नाम का युवक की हालत भी नाजुक बनी हुई थी, जिसे डॉक्टरों ने इंदौर रैफर किया है। उसके परिजनों और निवास का पता नहीं चल पाया था। 31 घायलों का उपचार जिला अस्पताल में चल रहा है। घायलों का कहना था कि रफ्तार काफी तेज थी। जिसके चलते भिड़ंत हुई है। दुर्घटना की जानकारी लगते ही आसपास के लोग यात्रियों को बचाने के लिये पहुंच गये थे। घायलों को अस्पताल ले जाने के लिये 6 एम्बूलेंस पहुंची थी।