April 18, 2024

उज्जैन। बेटे के लिये मेडिकल से दवा लेने जा रही वृद्धा को मासूम बालक ने घर से भागकर आने का झांसा दिया और बाद में युवक ने मंगलसूत्र के साथ कान के टॉप्स ठग लिये। 22 फरवरी को हुई वारदात के मामले में शनिवार-रविवार रात पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच में लिया है। नीलगंगा टीआई तरुण कुरील ने बताया कि शांतिनगर में रहने वाली जानीबाई पति प्रेमचंद प्रजापत 50 वर्ष पैदल मेडिकल स्टोर्स पपर दवा लेने गई थी, जहां से लौटते समय उसे हनुमान नाका पर एक बालक मिला जिसने बस स्टेंड का पता पूछा। जानीबाई ने परिवार के संबंध में जानकारी ली तो उसने घर से भागकर आना बताया। वह बालक से बातचीत कर रही थी, उसी दौरान एक युवक आ गया। उसे बालक को थाने ले जाने की बात कहीं। वृद्धा ने मना किया तो युवक ने बालक के पास बेग की तलाशी ली और कहा कि बेग में बहुत सारे पैसे है। उसने आपस में बांटने की बात कहीं, लेकिन हनुमान नाका से नीलगंगा की ओर जाने वाले कब्रिस्तान मार्ग पर जाने लगी। बालक उसके पीछे दौड़कर पहुंचा और बोला की मुझे अपने साथ ले चलो, यह आदमी मेरे पैसे छीन लेगा। तभी युवक भी पीछे से आ गया और चाकू दिखाया वृद्धा को कुछ सुंघा दिया। जानीबाई को सुधबुध खो बैठी, जब उसे होश आया तो उसका मंगलसूत्र और कान के टॉप्स गायब थे। रात का समय होने पर वह घर पहुंची और परिजनों को घटना बताई। मामले में प्रकरण दर्ज कर जांच में लिया गया है। क्षेत्र में लगे सीसीटीवी कैमरे देखे गये, लेकिन बंद मिले हैं।