इंदौर की वर्षो पुरानी जरूरत होगी पूरी- बड़ी और आधुनिक फूड टेस्टिंग लैब की मिलेगी सौगात

 

इंदौर। शहर के बाशिंदों को शुद्ध खाद्य पदार्थ मिल सके, इसके लिए फूड टेस्टिंग लैब तैयार हो चुकी है। विभाग के अधिकारियों ने लैब का ट्रायल पूर्ण कर लिया है। 10 जून के बाद इसका विधिवत उदघाटन किया जाएगा। यह लैब तलावली चांदा में बन गई है।

खाद्य सुरक्षा अधिकारी मनीष स्वामी ने बताया कि शहर में अमानक खाद्य पदार्थ के सेम्पल इकट्ठा कर उनकी टेस्टिंग के लिए भोपाल भेजे जाते हैं। भोपाल से जांच रिपोर्ट में विलंब होने से दुकानदार को फायदा मिल जाते हैं। प्रदेश में केवल भोपाल में ही जांच की व्यवस्था होने से रिपोर्ट आने में कई बार एक से डेढ़ माह लग जाते हैं।
इस परेशानी को दूर करने वर्ष 2018 में तलावली चांदा में लैब निर्माण की शुरुआत की गई थी। वर्ष 2019-20 में कोरोना संक्रमण फैलने से लैब निर्माण कार्य में विलंब हो गया। इसके बाद जैसे- तैसे काम को गति मिली। वर्ष 2022 के अंत में लैब की बिल्डिग खड़ी हो गई थी। वर्ष 2023 में मशीन को इंस्टालेशन व फनीशिंग कार्य शुरू हुआ था। करीब 14 करोड़ रुपए की लागत से लैब का निर्माण किया गया है। लैब खुलने से अमानक खाद्य पदार्थों के सेम्पल की जांच 24 घंटे में आ जाएगी, जिससे दुकानदार पर कार्रवाई करने में आसानी रहेगी।

You may have missed