रिमझिम बारिश के बीच जैथल-उज्जैन में भीषण आगजनी इलेक्ट्रिकल्स दुकान पर पाया काबू, फैक्टी में आग बुझाने की मशक्कत

0

उज्जैन। भीषण गर्मी के बाद बुधवार शाम मौसम का मिजाज बदला और रिमझिम बारिश शुरू हुई, इसी बीच उज्जैन और ग्राम जैथल में भीषण अग्निकांड हो गया। उज्जैन में इलेक्ट्रिकल्स दुकान में लगी आग पर 3 घंटे में काबू पा लिया, लेकिन जैथल में गुरूप्रसाद कोल्ड फैक्ट्री में लगी आग पर काबू पाने की मशक्कत देर रात तक जारी थी। नीलगंगा थाना क्षेत्र के तीनबत्ती चौराहा पर संजय गुप्ता टिल्लू एंड टिल्लू इलेक्ट्रिकल्स का संचालन करते है। शाम 5.30 बजे शहर में रिमझिम बारिश शुरू हुई, तभी इलेक्ट्रिकल्स दुकान की तीसरी मंजिल पर आग लग गई। दुकान में वायर के बड़ल भरे हुए थे। जिसके चलते आग काफी तेजी से फैली और तीन मंजिला दुकान आग की लपटो से घिर गई। आग पर काबू पाने के लिये एक के बाद एक फायर फायटर और वाटर लारी पहुंचने लगी। आग ऊपरी मंजिल से नीचे आ रही थी। जिस पर काबू पाने के लिये हाईड्रोलिक गाड़ी बुलाना पड़ी। जिस पर चढ़कर फायर फायटरों ने मशक्कत शुरू की और करीब 3 घंटे में आग बुझाई जा सकी। इस दौरान तीन बत्ती चौराहा पर लम्बा जाम लग गया। नीलगंगा और माधवनगर थाना पुलिस को यातायात व्यवस्था संभालने के लिये मौके पर पहुंचना पड़ गया। दुकान में लगी भीषण आग का पता चलने पर नगर निगम सभापति कलावती यादव भी तीनबत्ती चौराहा पहुंच गई थी। रात 9.30 बजे के लगभग यातायात व्यवस्था सुचारू हो सकी। संजय गुप्ता ने बताया कि आग लगने का कारण शार्ट सर्किट सामने आ रहा है। वह नीचे दुकान संचालित करते है। ऊपरी 2 मंजिलों पर गोदाम बना रखा है। जिसमें करोड़ो का सामान भरा हुआ था। जो आग में स्वाहा हो गया है। नीलगंगा थाना पुलिस ने बताया कि इलेक्ट्रिकल्स दुकान में लगी आग से आसपास के दुकानदार भी दहशत में आ गये थे। लेकिन पुलिस और फायर फायटरों ने लोगों को आसपास से हटा दिया था। आग को आसपास नहीं फैलने दिया गया। टीआई विवेक कनोडिया ने बताया कि दुकान संचालक की शिकायत पर आगजनी की जांच शुरू की जाएगी।
देर रात तक सुलगता रहा फैक्ट्री में भरा भूसा
घट्टिया तहसील के ग्राम जैथल में गुरूप्रसाद कोल्ड फैक्ट्री में शाम 5.30 बजे आग लगी। फैक्ट्री में सोयाबीन के भूसे से गट्टे बनाए जाते है, जिसे कोयले की तरह जलाने के लिये काम में लिया जाता है। फैक्ट्री के साथ आसपास काफी मात्रा में भूसे का मटेरियल पड़ा हुआ था। शाम को हल्की बारिश के साथ तेज हवा से आग फैलती चली गई। आगजनी में फैक्ट्री पूरी तरह से जल चुकी थी। जिस पर काबू पाने के लिये मौके पर तीन फायटर लगी थी, वहीं वाटर लारी से पानी मंगवाया जा रहा था। भीषण अग्निकांड की खबर लगने पर घट्टिया टीआई राधेश्याम चौहान टीम के साथ पहुंच गये थे। उन्होने बताया कि फैक्ट्री आर्मी से सेवानिवृत्त अरविंदसिंह सोलंकी निवासी ग्राम कदवाली है। आग पर काबू पाने के देर रात तक प्रयास जारी थे। उज्जैन और आसपास के क्षेत्रों से फायर बिग्रेड बुलवाई गई है।
बॉक्स लगाना है
छत पर चढ़े टीआई ने बाल्टी से डाला पानी
इलेक्ट्रिकल्स दुकान में लगी भीषण आग पर काबू पाने के लिये जहां फायर फायटर मशक्कत कर रहे थे। वहीं नीलगंगा टीआई विवेक कनोडिया दुकान के आसपास बने मकानों और दुकानों की छत पर चढ़े। उन्होने छतों पर लगी पानी की टंकी और टेंक में भरे पानी को बाल्टी में भरकर दुकान के ऊपरी हिस्से में बनी खिड़की से अंदर डालना शुरू कर दिया, लेकिन आग बुझने के बजाया विकराल रुप लेती जा रही थी। टीआई ने भी काफी देर तक बाल्टी से पानी डालकर आग बुझाने की कोशिश की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *