April 19, 2024

उज्जैन। बडोदरा जाने के लिये बस के इंतजार में खड़े महिला-पुरूष के पास मादक पदार्थ होने खबर मिलते ही पुलिस ने घेराबंदी की। हुलिये के आधार पर दोनों को हिरासत में लिया। उनके पास से चार ट्रेवलिंग बेग मिले। जिसे चैक करने पर उसमें डोराचूरा भरा होना पाया गया। दोनों को गिरफ्तार कर पुलिस ने 2 दिनों की पूछताछ के लिये रिमांड पर लिया है।पुलिस अधीक्षक प्रदीप शर्मा ने बताया कि मादक पदार्थ तस्करी को लेकर नया अभियान शुरू किया गया। जिसमें नशा करने वालों से सूचना एकत्रित की जा रही है। इसी कड़ी में देवासगेट थाना पुलिस को खबर मिली कि बडोदरा जाने के लिये महिला-पुरूष बस स्टेंड पर खड़े है। जिनके पास चार ट्रेवलिंग बेग है। टीआई कुशलसिंह रावत अपनी टीम के साथ बस स्टेंड पहुंचे और बडोदार जाने वाली बसों में सवार होने वालों की जानकारी जुटाई। संख्याराजे धर्मशाला के सामने रेलवे ओव्हर ब्रिज के पास चार ट्रेवलिंग बेग लेकर खड़े महिला-पुरूष दिखाई दिये। दोनों को संदेह के आधार पर हिरासत में लिया गया और बेगों की तलाशी ली गई। जिसमें मादक पदार्थ भरा होना पाया गया। दोनों से पूछताछ करने पर डोडाचूरा होना बताया गया। मादक पदार्थ मिलने पर दोनों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट की धारा 8/15 में प्रकरण दर्ज किया और मंगलवार दोपहर को न्यायालय में पेश कर 2 दिनों की पूछताछ के लिये रिमांड पर लिया गया। पुलिस अधीक्षक के अनुसार दोनों से बरामद डोडा चूरा 58 किलो है। उनके पास से लेडिस पर्स भी जप्त किया गया है। जिसमें 2 हजार रूपये नगद और रेलवे का टिकिट मिला है।
इंदौर-जोधपुर ट्रेन से पहुंचे थे उज्जैन
पुलिस अधीक्षक के अनुसार मादक पदार्थ के हिरासत में आये महिला-पुरूष से प्रारंभिक पूछताछ में पता चला है कि महिला संगीता पति मुकेश 40 वर्ष निवासी रतलाम के ताल थाना अंतर्गत ग्राम माधोपुरा की रहने वाली है। उसका साथी मुकेश जशपाल पिता भगतराम 24 वर्ष मंदसौर के सीतामऊ थाना क्षेत्र के ग्राम कांचरिया का रहने वाला है। दोनों मंदसौर से इंदौर-जोधपुर ट्रेन से उज्जैन तक पहुंचे थे। जहां से बस में सवार होकर बडोदरा जाने वाले थे। उन्हे डोडाचूरा मुकेश टेलर निवासी ग्राम सुवसरा मंदसौर ने दिया था।
हरियाणा में पकड़ा चुकी है संगीता
देवासगेट टीआई कुशलसिंह रावत ने बताया कि डोडाचूरा के साथ पकड़ाई संगीता के बारे में जानकारी जुटाने पर सामने आया कि वह 2022 में हरियाणा के जिंद में मादक पदार्थ क ेसाथ पकड़ा चुकी है। वहीं जशपाल के खिलाफ सीतामऊ थाने में मारपीट का प्रकरण दर्ज है। बताया जा रहा है कि संगीता काफी शातिर है। वह ट्रेवलिंग बेग के साथ यात्री बनकर मादक पदार्थ की तस्करी करती है। ट्र्रेवलिंग बेग होने पर किसी को उस पर संदेह नहीं होता था। वह यात्रा का साधन भी बदल देती थी, कभी ट्रेन से तो कभी बस में सफर करती है, ताकि सहज यात्री लगे। दोनों को रिमांड अवधि में सुवासरा ले जाया जाएगा। जहां मादक पदार्थ उपलब्ध कराने वाले की गिरफ्तारी का प्रयास किया जाएगा।