महिदपुर गंगावाड़ी मेले में ऐतिहासिक दंगल में 100 पहलवानों ने दिखाये अपने-अपने दांव

महिदपुर। महिदपुर गंगावाड़ी मेले में न.पा. द्वारा आयोजित विशाल दंगल में दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, उ.प्र. के साथ म.प्र. के लगभग 100 पहलवानों ने भाग लिया। कुल 50 जोड़ो का दंगल 5 घंटों से अधिक समय तक चलता रहा। इसमें तीन जोड़ लड़कियों ने भी अपने दॉंव पेच दिखाकर बता दिया कि लड़कियां भी किसी क्षेत्र में पीछे नहीं है। दंगल के शुरू में न.पा. सीएमओ चन्द्रशेखर सोनिस ने स्वागत कर महिदपुर दंगल में पधारने पर धन्यवाद दिया। दंगल की शुरूआत के पहले निर्णायक कमेटी के गामड़ पहलवान रतलाम, नादू पहलवान देपालपुर, दादू ठाकुर पहलवान उज्जैन, अरुण यादव पहलवान हरियाणा का सीएमओ ने साफा बांधकर स्वागत किया। इस रोमांचक दंगल को देखने के लिये न.पा. के पदाधिकारी, पार्षदों के साथ पूर्व विधायक बहादुरसिंह चैहान व क्षेत्र के कई वरिष्ठ अधिकारी, जननेता व महिदपुर बजरंग व्यायामशाला, जगदीश व्यायामशाला के साथ नगर व ग्रामीण क्षेत्र के पहलवान कुश्तियों को देखकर करतल ध्वनि से पहलवानों का उत्साहवर्धन कर रहे थे।
50 जोड़ो में सबसे बड़ी जोड़ दिल्ली के पोपसिंह पहलवान व इन्दौर के नूरा पहलवान के बीच हुई। दोनो पहलवानों के दांव पेंच देखकर दर्शक भी अचंभित होते रहे, अंत में नूरा पहलवान इन्दौर विजय घोषित किये गये। इसके अलावा मनीष पहलवान देपालपुर, अंकित जाट पहलवान हरियाणा की जोड़ी के दांव पेंच में दोनो पहलवान बराबरी पर रहे। आदित्य पहलवान कोटा, अनुराग पहलवान पंजाब, गोलू जाट पहलवान इन्दौर, नुकूल यादव पहलवान फिरोजपुर की जोड़ ने दर्शकों की तालिया बटोरी। तीन जोड़ लड़कियों की कुश्ती में उमा विश्वकर्मा महिदपुर, नेहा सोलंकी खाचरौद की जोड़ ने अपने दांप पेंच से दर्शकों ने नारीशक्ति जिन्दाबाद जिन्दाबाद के नारों से आकाश गुंजायमान कर दिया। दंगल का संचालन गज्जु बागरी पहलवान उज्जैन, बाबू ठाकुर, प्रेम भैया उज्जैन ने किया। आयोजन कमेटी में बजरंग व्यायामशाला व जगदीश व्यायामशाला व क्षेत्र के पहलवानों का प्रशंसनीय सहयोग रहा। दंगल के अंत में न.पा. ने सभी का आभार व्यक्त किया।

You may have missed