April 15, 2024

दैनिक अवंतिका(उज्जैन) कानून व्यवस्था को लेकर आम लोगों के सुझाव और समस्याओं से अवगत होने के लिये रविवार दोपहर जिले में पुलिस ने जनसंवाद कार्यक्रम आयोजित किया। जिसमें यातायात के साथ शराबी और असामाजिक तत्व बड़ी परेशानी होना सामने आये। जिसको देखते हुए शाम ढलते ही पुलिस ने मैदान संभाल लिया था।पुलिस मुख्यालय की ओर से प्रदेश के सभी वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को जनसंवाद किये जाने के निर्देश जारी किये गये थे। इसी क्रम में जिले के सभी थानों में जनसंवाद आयोजित किया गया। कार्यक्रम का मुख्य आयोजन होटल प्रियंजली में आईजी संतोष कुमार सिंह, डॉ. रीता शिंदे, रिटायर्ड रजिस्टार जनरल हाईकोर्ट केसी शर्मा, फादर जॉस, डॉ. भ्रमदीप अलोने, के आतिथ्य में हुआ। जिसमें क्षेत्रीय पार्षद, पूर्व पार्षद, गणमान्य नागरिक, सामाजिक संगठन, आम नागरिक सहित कई लोगों पहुंचे। इस दौरान कानून व्यवस्था को लेकर सुझाव साझा किये गये। लोगों ने अपनी समस्या बताई, जिसमें यातायात व्यवस्था के साथ क्षेत्र के गार्डनों और सार्वजनिक स्थानों पर शराबियों के जमघट के साथ असामाजिक तत्वों की बड़ी समस्या सामने आई। आईजी संतोष कुमार सिंह ने सुझावों और समस्यों को गंभीरता से लेने की बात कहीं और आगामी दिनों में कई मार्गो पर यातायात समस्या का समाधान होने की बात भी कही। इस दौरान कुछ लोगों ने पुलिस की कार्यशैली को अच्छा बताया तो कुछ ने अपनी आपत्ति जताते हुए पुलिस द्वारा कार्यवाही नहीं करने की बात कहीं। नीलगंगा क्षेत्र में लगातार होने वाली चोरी की वारदातों को लेकर भी लोगों ने पुलिस गश्त नहीं होने की बात कहीं। जिस पर आईजी ने मामलों की शिकायत के लिये ई-एफआईआर, ई-चालान एवं सिटीजन कॉप एप के माध्यम से अपनी शिकायत दर्ज कराने की बात कहीं। वहीं कार्यक्रम में सामने आई समस्याओं को जल्द निराकरण करने के निर्देश संबंधित पुलिस अधिकारियों को दिये। मुख्य कार्यक्रम के साथ ही जिले के थाना परिसरों में पुलिस ने जनसंवाद किया और लोगों की समस्या सुनकर सुझावो पर अमल करने की बात कहीं। रात 11 बजे तक मैदान में दिखी पुलिस  दोपहर में जनसंवाद के बाद शाम ढलते ही पुलिस मैदान में आ गई थी। चिमनगंज थाना पुलिस ने क्षेत्र की शराब दुकान के आसपास लगने वाले जमघट को साफ किया। वहीं संवाद के दौरान मकोडिया आम क्षेत्र में लगने वाले जाम और अव्यवस्थाओं से निपटने के लिये पहुंच गई। इस दौरान बिना नबंर और तेजगति से दौड़ने वाले वाहनों के खिलाफ कार्रवाई की गई। नानाखेड़ा, नीलगंगा और यातायात पुलिस ने भी अपने क्षेत्र में कानून व्यवस्था को लेकर मिले सुझावों पर काम करते हुए यातायात व्यवस्था को बेहतर और सुगम बनाने के प्रयास करते हुए क्षेत्र में असामाजिक तत्वों और संदिग्धों की चैकिंग की। रात 11 बजे तक पुलिस मैदान में मोर्चा संभाले थी। पंवासा थाना क्षेत्र में पुलिस द्वारा चैकिंग अभियान चलाया गया। ग्रामीण क्षेत्रों में थाना पुलिस ने व्यवस्थाओं को लेकर देर रात तक सर्चिंग के साथ चैकिंग की।