मेहताखेडी के काकड एवं चरनोई बयडे तक जाने वाले मार्ग को तत्काल खुलवाने की मांग

मनावर।   बोरूद की जनता का सार्वजनीक मार्ग जो मेहताखेडी के काकड एवं चरनोई बयडे तक जाने वाले मार्ग को तत्काल खुलवाने को लेकर बोरूद वासियो ने एसडीएम के नाम तहसीलदार दिनेश सोनरतिया को ज्ञापन देकर रास्ता खुलवाने की मांग की गई ज्ञापण में बोरूद वासियो ने बताया कि रास्ता बाप दादाओं के समय से है बोरूद के आम लोग किसान मजदूर बोरूद की काकड से लगे हुऐ मेहताखेडी बयडें पर गाँव के समस्त पशु चराने के लिए लोग विगत 100 वर्ष से अधिक समय से उक्त रास्ते से आते जाते रहे है जिसे आनंदा पति सुरेश, सुरेश पिता दुधालाल, ग्राम बोरूद में अपनी फोजी दंबाागई दिखाते हुऐ किसान गोपाल पिता बाला, गोविन्द पिता हुकमा, दुधा पिता पुरा दिनेश पिता पुरा, मिराबाई पति दिनेश व नरेश पिता दुधा अपने खेतों में आने जाने के मेन रास्ते को जेसीबी मशीन से खंदी खोलकर रास्ता बंद कर दिया था।

इस सबंध में इनका विवाद तहसील न्यायालय में विचारार्थ है और किन्तु आज तक तहसीलदार साहब के द्वारा रास्ता नही खुलवाया गया तथा मोके पर आम लोगों को निकलने में भी फोजी सुरेश रोकता है और कहता है कि मे फोजी हूँ मेरे से भिडने की कोशीस मत करना में तो किसानो से उक्त रास्ते के बदले में पैसे लेना चाहता हूँ और वह नही दे रहे है जिसके कारण भी तुम्हारा रास्ता रुका हुआ है और उक्त रास्ते को मैं बिना पैसे लिये खोलने नही दुगा फोजी कहता है कि मेरे बडें पापा भाजपा पार्टी में बड़े व वरिष्ठ नेता है और शासन भाजपा की है कोई भी शासकीय कर्मचारी व अधिकारी हमारे से बाहर नही जा सकते है यह कि गाँव के कुछ वरिष्ट सदस्यों द्वारा सुरेश पिता दुधा फौजी को हाथ जोडकर समझा दिया था परन्तु वह मानने को तैयार नही है लगभग 6 माह से भी जादा गाव के पुश चरनोई करने नही गये है तथा आम लोगों को मेहताखेडी जाने में उक्त रास्ता नजदीक पडता है इस लिए पूरा गांव उक्त रास्ता रोक देने से परेशान है जिसे जल्द खुलवाया जा वरना गांव वालों को धरना प्रदर्शन करना पड़ेगा जिसकी जवाबदारी शासन प्रशासन की रहेगी,,।

Author: Dainik Awantika