शासकीय कन्या माध्यमिक विद्यालय नलिया बाखल के वार्षिक उत्सव संपन्न

उज्जैन। ” शिक्षक ” भटकते जीवन के “लाईट हाउस” है…. इस बात की चिंता मत करिये कि ब्लड में शुगर नहीं है.. इस बात की चिंता करो कि जबान में मसाले और दिल में नमक नहीं होना चाहिए.. जिन्हे सपने देखना अच्छे लगते है उनको रात छोटी लगती है और जिनको सपने पूरे करना अच्छा लगता है उनको दिन छोटा लगता है… शिक्षक जीवन की प्रगति की पगडंडी है.. छात्रों के भटकते जीवन में शिक्षक लाईट हाऊस होते है…

उक्त प्रभावी विचार शासकीय कन्या माध्यमिक विद्यालय नलिया बाखल के वार्षिक उत्सव एवम पुरुस्कार वितरण समारोह की अध्यक्षीय आसंदी से प्रधानाचार्य शैलेंद्र व्यास, स्वामी मुस्कुराके ने व्यक्त किये… समारोह के मुख्य अतिथि विकास खण्ड स्त्रोत समनव्यक श्री विनोद नरवरे ने विद्यार्थियों को प्रेरित करते हुए कहा कि अर्जुन की तरह लक्ष्य का संधान करने के लिये जीवन को अनुशासन, लगन, मेहनत की भट्टी में तपाये आपका जीवन कुंदन की तरह चमक जायेगा…सरस सरस्वती वंदना श्रीमती मनीषा गुप्ता एवम भारती गोमे ने प्रस्तुत की… विद्यालय की शेक्षणिक, सांस्कृतिक, खेल, विज्ञान की गतिविधियों का लेखा जोखा श्रीमती लता शिंदे ने दिया.. अतिथि स्वागत शिक्षक संजय अष्ठाना, विष्णु प्रसाद सोलंकी, प्रियंका सोलंकी, राकेश जोशी, मंजुला कुशवाह ने किया… विशेष अतिथि  सीमा शर्मा रही… प्रभावी संचालन पुरुषोत्तम विष्णु ने किया.. आभार रेणुका मंडावरा ने व्यक्त किया… इस अवसर पर जेनब रशीद (श्लोक पाठ) , अंशु विक्रम चौहान (सर्वाधिक उपस्तिथि) , फरहीन मंसूरी (मेहंदी) , आलिया इमरान खान (रांगोली) , युवराज महेश (स्पोर्ट्स) , हर्षिता नंदकिशोर (केश सज्जा) , अनस जावेद ( संस्कृत भाषण) में पुरुस्कार से नवाजे गये.. अंत में श्रीराम जी की धुन पर समस्त छात्र छात्राएं जमकर थिरके।

Author: Dainik Awantika