मामले का खुलासा करते एएसपी 2-पुलिस की हिरासत में आरोपी स्लग-बालक का अपहरण करने वाला रिमांड पर कॉल कर बोला था 2 लाख रूपये देना और छोरा ले जाना

दैनिक अवंतिका
उज्जैन। पांच साल के बालक का अपहरण करने वाले बदमाश को बुधवार-गुरूवार
रात इंदौर से गिरफ्तार करने के बाद पुलिस ने मामले का खुलासा किया। बदमाश
ने कॉल कर बोला था, 2 लाख रूपये देना और छोरा लेकर चले जाना। पुलिस ने
लोकेशन ट्रेस कर बालक को मुक्त कराया। बदमाश को न्यायालय में पेश कर 2
दिनों की रिमांड पर लिया गया है। तराना थाना क्षेत्र के ग्राम बरंडवा में बुधवार शाम पांच साल के रविराज
पिता नरेन्द्र राजपूत के अपहरण का सनसनीखेज मामला सामने आया था।  जिसके
बाद ईश्वरसिंह राजपूत ने थाने पहुंचकर पुलिस को बताया कि मेरे पुत्र
नरेन्द्र का दोस्त माखनसिंह पोते को जबरन अपनी बाइक पर बैठाकर ले गया है।
उसने कॉल कर कहा है कि 2 लाख रूपये देना और छोरा लेकर चले जाना। टीआई
रमेशचंद्र कलथिया ने अपहरण होने की घटना का पता चलते ही धारा 364-ए का
प्रकरण दर्ज कर वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया और एएसआई पवनसिंह
कुशवाह, छोटेलाल चौहान, आरक्षक भूपेन्द्रसिंह भदौरिया, प्रकाशचंद्र मेहता
की टीम बनाई। आरोपी की तलाश के लिये सायबर सेल प्रभारी एसआई प्रतीक यादव
से संपर्क किया। टीम ने तलाश शुरू की तो पता चला कि बदमाश की लोकेशन
सोनबाग कालोनी, रोबोट चौराहा इंदौर की मिल रही है। रात में ही टीम इंदौर
के लिये रवाना हो गई। कुछ देर की सर्चिग के बाद एक झोपड़ीनुमा मकान से
अगुवा हुआ बालक और आरोपी मानखसिंह मिले गये। जिन्हे हिरासत में लिया गया
और तराना लाया गया। गुरूवार दोपहर एएसपी नितेश भार्गव ने मामले का खुलासा
करते हुए बताया कि बालक को मुक्त कराकर आरोपी की बाइक क्रमांक एमपी 41
एमआर 8445 बरामद की है। आरोपी के खिलाफ एक अपराध चिमनगंज और 2 मक्सी थाने
में दर्ज है। उसे न्यायालय में पेश कर 2 दिनों की रिमांड पर लिया गया है।
पूछताछ की जा रही है।दादी पर किया था बाइक चढ़ाने का प्रयास
बताया जा रहा है कि बालक को अगुवा करने वाला आरोपी पूर्व में ग्राम
बरंडवा में रहता था। उसने अपनी जमीन बेच दी है और इंदौर रहने चला गया है।
वह बुधवार को गांव पहुंचा था, उसने जबरन बालक को अपनी बाइक पर बैठा लिया
था। उसे रविराज को ले जाता देख दादी आशुबाई ने विरोध किया तो माखनसिंह ने
उस पर बाइक चढ़ाने का प्रयास किया और भाग निकला। उसने बालक के चाचा
जितेन्द्र से कहा था कि 2 लाख रूपये देना और छोरा लेकर चले जाना। बालक का
पिता मजदूरी के लिये गुजरात गया हुआ है। जितेन्द्र ने वेल्डिंग का काम
करने वाले पिता को सूचना दी थी और थाने पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई थी।
आरोपी इंदौर में खरीदना चाहता है मकान जा रहा है कि आरोपी माखनसिंह राजपूत ने ग्राम बरंडवा में अपनी जमीन
बेच दी है। वह इंदौर ओमेक्स सिटी में मकान खरीदना चाहता है। जिसके लिये
उसने बिल्डर से चर्चा की थी। मकान के लिये 2 लाख रूपये एडवांस देने और
बाकी रूपये किश्त में देने के लिये कहा गया था। जिसके चलते उसने बालक का
अपहरण कर 2 लाख की फिरौती मांगी थी। लेकिन आरोपी का कहना है कि बालक के
पिता से उसे रूपये लेना है। जिसे देने में आनाकानी कर रहा था। मामले को
लेकर टीआई रमेशचंद्र कलथिया ने बताया कि रिमांड अवधि में पूछताछ के बाद
ही अपहरण की वजह सामने आ पायेगीI

You may have missed