आस्था की अंगड़ाई पूजा कर रही गौ माता की दिल से सेवा..

उज्जैन। कहने कों तो उज्जैन के अंदर गौशाला और गौ रक्षा के लिए बहुत सारे प्रयास हो रहे है लेकिन उसका सकारात्मक रिजल्ट सामने नहीं आ पा रहा है ।

शहर की जनता अपने रसोई घर से गाय माता का पेट भरने के प्रयास कर रही है । इन्हीं में से एक नाम है पूजा सोनी का जो वर्तमान विदेशी संस्कृति को छोड़ कर गौ रक्षा के लिए जो सेवा दे रही है वह काबीले तारीफ है पूजा के पिता श्री सुनील सोनी का मकसद है कि परिवार संस्कार से जुड़ा रहे इस कारण कठिन परिस्थितियों के बीच भी मानवता का पाठ घर में हर रोज दोहराया जाता है ।

मुख बधिर भी देते हैं सोनी के दर पे दस्तक

पूजा एक ऐसी युवा शक्ति है जो वर्तमान परिदृश्य में संस्कार सभ्यता और संस्कृति का निर्वाह कर रही है
समय का तालमेल निभाना भी जरूरी वर्तमान में जहां युवा वर्ग संस्कृति के खिलाफ चल रहा है इस दौर में पूजा की तपस्या काबिले तारीफ है पिता सुनील सोनी से मिले संस्कारों के बाद मां को खोने के बावजूद पूजा ने कभी भी घर आए किसी मेहमान के सम्मान में कोई कसर नहीं छोड़ी इंसान तो दूर कोई भी पशु यदि उनके निवास पर आता है तो वह श्रद्धा अनुसार भोजन ग्रहण करके ही जाता है।

बहरहाल हम इतना ही कहेंगे कि पूजा की थाली में हर संभव वह भोजन रहेगा जो वह खुद अपने हाथों से निर्मित कर प्राणी जगत के लिए तैयार करती है। हम आपको यह भी बता दें कि सुनील सोनी का परिवार आर्थिक रूप से कोई सक्षम नहीं है फिर भी उनकी आस्था और भावनाओं का सम्मान काबिले तारीफ है।शासन प्रशासन को इस दिशा में काम करना चाहिए ।

रिपोर्ट विकास त्रिवेदी

Author: Dainik Awantika