मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव की मंशा अनुरूप झोनल प्लान बनाकर कार्य करे , प्रभारी सदस्य शिवेन्द्र तिवारी

दैनिक अवन्तिका उज्जैन: शहर के सर्वागीण विकास के लिये नगर निगम अधिकारी मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव जी की मंशा अनुरूप झोनल प्लान बनाकर कार्य करे। 100 दिन की कार्य योजना में 15 जनवरी तक कार्य की प्रगति व परिवर्तन आ जाना चाहिए। विकास कार्यो में समन्वय स्थापित कर कार्य करे। जहा विवाद की स्थिति है वहां चर्चा कर निराकरण किया जाए। यह बात शुक्रवार को लोक निर्माण एवं उद्यान विभाग प्रभारी सदस्य श्री शिवेन्द्र तिवारी ने अपने कक्ष में विभागीय अधिकारीयों की बैठक लेते हुए कही बैठक में श्री तिवारी ने शासन की महत्वपूर्ण योजना विभिन्न वार्डो में संजीवनी क्लिनिक निर्माण कार्य को प्राथमिकता से पूर्ण करने जहां भूमि विवाद की स्थिती है उसका निराकरण समन्वय स्थापित कर करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। आपने कहा कि लोकसभा चुनाव के पूर्व जिन निर्माण कार्यो का भूमि पूजन एवं लोकार्पण किया जाना है उनको प्राथमिकता से लेने निर्माण स्थल पर सुचना फलक लगाए जाए, निर्माण कार्यो में विशेष कर समयावधि में कार्य पूर्ण हो यह सुनिश्चित किया जाए व समयावधि पूर्ण होने पर स्वीकृति प्राप्त की जाए। भवन निर्माण का प्रस्ताव देने के पूर्व शासकीय भूमि स्वामित्व का प्रमाणपत्र प्राप्त करके ही आगामी कार्यवाही की जाए। वार्ड क्रमांक 11 के संजीवनी क्लिनीक का कार्य एक माह में पूर्ण किया जाए, वार्ड 17 संजीवनी क्लिनीक का कार्य जनवरी अन्त तक पूर्ण किया जाए, वार्ड 53 निर्माणाधीन संजीवनी क्लिनीक के ठेकेदार को कार्य पूर्ण करने का नोटिस जारी करने इसी प्रकार वार्ड 48 एकता नगर स्थित संजीवनी क्लिनीक के भूमि विवाद का निराकरण करने, वार्ड 24 संजीवनी क्लिनिक का कार्य शीघ्र पूर्ण कराने, पंचमपुरा संजीवनी क्लिनीक का कार्य ठेकेदार से प्रारंभ कराने, महाकाल मंदिर के समिप खुले स्थान पर संजीवनी क्लिनीक का निर्माण करने के निर्देश दिए गए। नक्षत्र गार्डन सीमंेट कांक्रिट रोड़ पर सूचना बोर्ड लगाने तथा स्थल निरीक्षण करने का निर्णय लिया गया। वार्ड 48 के कार्य में अंडर टेकिंग हेतु पत्र लिखने निकास चौराह से अंकपात मार्ग का डामरीकरण करने के निर्देश दिए गए। तेलीवाड़ा चौराहे से कंठाल चौराहे की ओर निर्माणाधिन एजिंग वर्क की गुणवत्ता पर नाराजगी व्यक्त की गई इस संबंध में उपयंत्री को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए गए। छत्रीचौक पानी की टंकी के स्थान पर दुकान निर्माण की डीपीआर समक्ष के प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए तथा सामाजिक न्याय परिसर में डोम निर्माण कार्य की पुनः निविदा आमंत्रित करने, वेद्यशाला में वेदिक घड़ी लगाने का अनुमोदन कराए जाने एवं इस संबंध में विक्रम शोध संस्थान से चर्चा करने का निर्णय लिया गया। बैठक में श्री तिवारी ने शासन की महती कायाकल्प परियोजना में सड़को के उन्नयन, डामरीकरण, कार्य जो शेष है उन्हे शीघ्र पूर्ण करने, सिंधी कालोनी मार्ग पर सेंट्रल लाईटिंग एवं डिवाईडर तथा डामरीकरण कार्य के संबंध में भी चर्चा की गई। इसी प्रकार शहर में विभिन्न स्थानों पर ग्रीन वर्टिकल वाल निर्माण व विभिन्न 07 स्थानों पर फाउण्टेन लगाने हेतु मौका निरीक्षण का निर्णय लिया गया। बैठक में श्री तिवारी ने निर्देश दिए कि फाजलपुरा काम्पलेक्स, देवास रोड़ स्थित स्वीमिंगपुल के निर्माण कार्य की मानिटरिंग की जाए तथा प्रत्येक सप्ताह मौका निरीक्षण किया जाए। आपने कार्यपालनयंत्री, सहायक यंत्री एवं उपयंत्रीयों को निर्देशित किया कि वे स्वयं मौका निरीक्षण करे टाईम किपर के भरोसे ना रहे।   बैठक में अधिक्षण यंत्री  आर.आर. जारोलिया, कार्यपालन यंत्री  अनिल जैन, पीएचई कार्यपालन यंत्री  एन.के. भास्कर, झोनल अधिकारी  डी.एस परिहार जितेन्द्र श्रीवास्तव, उपयंत्री  मुकुल मेश्राम,  गोपाल बोयत,  श्याम सुन्दर शर्मा सहित अन्य अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित थे।

Author: Dainik Awantika